Input your search keywords and press Enter.

बिहार पुलिस का कारनामा ‘टूरिस्ट’ को बना डाला ‘टेररिस्ट’

न्यूज़ डेस्क : हमेशा से बिहार पुलिस कुछ अलग कर सुर्ख़ियों में रहता है. एक बार फिर बिहार पुलिस के कारनामे से उनकी छवि दागदार हो गई है. इस बार बिहार पुलिस की वजह से न सिर्फ एक बेगुनाह लेबनानी नागरिक को 13 महीने जेल में गुजारने पड़े बल्कि उसे आतंकी भी घोषित कर दिया गया.

यह मामला बिहार के सीतामढ़ी जिले का है. जहाँ पुलिस ने फदी फजल नामक एक लेबनानी नागरिक को 13 महीने पहले गिरफ्तार किया था. जमानत पर रिहा होने के बाद फजल ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उसने बताया कि वो पिछले साल 8 जुलाई 2016 को नेपाल घूमने के दौरान सीतामढ़ी में घुस गया था. सीतामढ़ी के मोहनपुर चौक पर उसे देखने के बाद नगर थानाध्यक्ष विशाल आनंद ने उसे बगैर वीजा भारत में आने के आरोप में जेल भेजा था.

Loading...

जिसके बाद उसके बैग की तलाशी ली गयी तो उसमे हार्ड डिस्क मिला और उसके आधार पर उसे आतंकी करार दे दिया गया. इस पुरे मामले की जांच दरोगा विजय कुमार कर रहे थे जिनपर फजल के परिजनों ने रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है. जिसके बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है. करीब एक साल से ज्यादा वक्त तक जेल में रहने के बाद मामला पटना हाईकोर्ट पहुंचा, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने पुलिस की लापरवाही एवं उसकी मनमानी पर नाराजगी जाहित करते हुए फजल को जमानत दे दी. लेबनानी नागरिक फिलहाल जमानत पर बाहर है.

पुलिस मुख्यालय ने इस मामले को लेकर मुजफ्फरपुर के जोनल आइजी सुनील कुमार को जांच के आदेश दे दिए हैं और साथ में मुख्यालय ने इस घटना की विस्तृत रिपोर्ट भी मांगी है.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.