Input your search keywords and press Enter.

…तो इसलिए हुई ASI रामराज चौधरी की हत्या

asi

asi


इस साल सात माह के अंदर तेल्हाड़ा के एएसआई आरआर चौधरी की हत्या समेत तीन पुलिसकर्मियों पर हमले की वारदात हो चुकी है. इन तीनों ही घटनाओं में अपराधियों ने पुलिसकर्मी का सरकारी हथियार लूट लिया है. खास बात यह है कि तीनों ही मामलों में अपराधी नहीं पकड़े गए है.

पिछली दो घटनाओं में पुलिस के अनुसंधान में भी यह बात सामने आयी थी कि पुलिस का ​हथियार लूटनेवाला एक गिरोह बाढ़, नालंदा के बिंद, बेल्छी और मरांची इलाके में सक्रिय है. अब इस गिरोह ने फतुहा के फोरलेन पर घटना को अंजाम देना शुरू कर दिया है. यह फारलेन बख्तियारपुर तक सुनसान रहता है और यदाकदा ही पुलिस की गश्ती टीम नजर आती है.

सभी घटनाएं एक दूसरे से मिलती जुलती

बाढ़ के दारोगा सुरेश ठाकुर की हत्या 18 अप्रैल को अपराधियों ने कर दी थी और उनकी सरकारी रिवॉल्वर को लूट ले गये थे. इसके पूर्व 16 मार्च को नालंदा के बिंद थाने के मदनचक गांव में रिटायर्ड दारोगा भुवनेश्वर सिंह को अपराधियों ने गोली मार दी थी और उनके सरकारी रिवॉल्वर व कारतूस लूट कर ले गये थे.

Loading...

दोनों ही घटना एक दूसरे से ​मेल खा रही थी. जांच के दौरान दोनों ही मामलों में काले रंग की अपाची बाइक के उपयोग होने की बात सामने आयी है. दोनों ही घटनाओं के आपस में मेल खाने के बाद पुलिस यह मान चुकी है कि एक गिरोह इस इलाके में सक्रिय है जो पुलिस की हथियार लूटने की​ फिराक में रहता है. आशंका है कि रामराज चौधरी को भी गिरोह ने गोली मारी है और हथियार लूटकर ले गये है.

गौरतलब है कि फतुहा-बख्तियारपुर फोरलेन के फतुहा रेलवे ओवरब्रिज के ऊपर अपराधियों ने तेल्हाड़ा थाने में तैनात एएसआइ रामराज चौधरी की गोली मार कर हत्या कर दी और उनके सर्विस रिवॉल्वर व कारतूस आपने साथ ले गये. उन्होंने एक सप्ताह की छुट्टी ली थी और अपनी हीरो होंडा बाइक से बख्तियारपुर रेलवे थाना जा रहे थे ताकि वहां बाइक पार्क करने के बाद ट्रेन से अपने घर कटिहार की ओर रवाना हो सके लेकिन अपराधियों ने सूनसान फोरलेन पर उनकी हत्या कर दी.
(स्रोत:प्रभात खबर)

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

One Comment

Leave a Reply to gk Cancel reply

Your email address will not be published.