Input your search keywords and press Enter.

बिहारशरीफ: मिशन हरियाली सफ्ताह के अंतर्गत लगाये गये हजारों वृक्ष


अमर वर्मा: वन महोत्सव (1-7 जुलाई) के अवसर पर रविवार 2जुलाई 2017 को बाढ़ नियंत्रण एवं जल निस्सरण प्रमण्डल बिहारशरीफ के परिसर में मिशन हरियाली के स्तर से 60 अशोक,10 गुलमोहर, 10 करंज, 5 महोगनी, 2 हरसिंगार के कुल 87 पौधे लगाये गये.इस कार्यक्रम में कार्यपालक अभियंता श्री जयदेव प्रसाद एवं उनके कार्यालय-कर्मियों के उत्साह-बर्धक सहयोग से मिशन हरियाली के सदस्य एवं कार्यकर्ता भावविभोर हो गये.

मिशन हरियाली की ओर से राजीव रंजन भारती, पुतुल सिंह, हिमांशू, पंकज, विनय प्रकाश, धर्मेन्द कुमार, नवीन कुमार, सुरेश प्रसाद, धनन्जय कुमार, प्रमोद कुमार,चन्दन कुमार, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी श्री सुबोध कुमार सिंह, उनके पुत्र आर्ष, राकेश बिहारी शर्मा,कवि महेन्द्र कुमार ‘विकल’ आदि ने भाग लिया. स्थानीय स्तर से डॉ. दिनेश प्रसाद सिंह, से.नि. शिक्षक बृज बिहारी प्रसाद, से.नि. फौजी उपेंद्र प्रसाद उर्फ सिपाही जी,सुधीर प्रसाद, करु यादव, लेनिन, मानावेश कुमार मानव, कुमार सौरभ उर्फ रौशन, कुमार शुभम् उर्फ जॉनसन सहित अन्य अनेकों युवाओं एवं छात्रों ने कार्यक्रम में जमकर भाग लिया.जिला भू-अर्जन पदाधिकारी श्री सुबोध कुमार सिंह एवं कार्यपालक अभियंता श्री जयदेव प्रसाद को जब स्थानीय लोगों और युवाओं ने अपने हाथों गड्ढा बनाते और पौधा रोपण करते देखा, तो वे काफी प्रभावित हुए.अंत में “चाय पर चर्चा” में लोगों को सम्बोधित करते हुए.

Loading...

श्री सुबोध कुमार सिंह, श्री जयदेव प्रसाद, मिशन हरियाली के अध्यक्ष श्री राजीव रंजन भारती एवं अन्य ने कहा कि जो पर्यावरण हमें जीने का आधार देता है, वनों की अंधाधुंध कटाई के कारण आज वही बीमार है, प्रदूषित जल-वायु से स्वास्थ्य दुष्प्रभावित हो रहा है, अनावृष्टि की स्थिति से किसान आत्महत्या कर रहे हैं, तापमान बढ़ रहा है, ग्लेशियर पिघल रहे हैं। समाधान सिर्फ एक है कि हम ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाये। यह काम हमें स्वयं अपने तन, मन, धन से करना होगा. हर बात के लिए सरकार पर निर्भरता अच्छी बात नही है. आखिर हमारा भी तो धरती के प्रति कुछ कर्तव्य है.
सभी वक्ताओं ने सहयोग के लिये सहभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.