Input your search keywords and press Enter.

सड़क हादसे कम करने में अब बिहार बनेगा मॉडल

bihar cm nitish kumar

bihar cm nitish kumar


सड़क हादसे को कम करने के उद्देश्य के तहत ‘रोड सेफ्टी टाइम फॉर एक्शन’ सम्मेलन का आयोजन गुरुवार को पटना में किया गया. सम्मेलन में आए विशेषज्ञों ने सड़क हादसों पर गहरी चिंता जताई और इसे कम करने के उपायों पर चर्चा की.

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अनिल कुमार सिन्हा ने कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई ऐसे कदम उठाए जो मॉडल बन गए. अब आपदाओ और सड़क दुर्घटनाओं को कम करने में भी बिहार को मॉडल बनाया जा सकता है. उम्मीद जताई कि सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में भी बिहार मिसाल पेश करेगा.

Loading...

उन्होंने सड़क हादसों में कमी लाने के उपायों पर चर्चा की और कहा कि लोगों को अनुशासन का पालन करना होगा. कई शहरों में एडवांस ट्रैफिक सिस्टम होने के बावजूद हादसे हो रहे है. जागरूकता और अनुशासन से इसे कम किया जा स​कता है.

इंडियन चैंबर आॅफ कॉमर्स के स्थानीय निदेशक कमल शाही ने कहा कि सड़क हादसों पर हमें फोकस करना होगा. आपदाओं से ज्यादा लोग सड़क दुर्घटनाओं में मर रहे. नशे में गाड़ी चलाना, अत्यधिक रफ्तार और ट्रैफिक नियमों की अनदेखी इसकी सबसे बड़ी वजह है. हादसे को कम करने और सड़क सुरक्षा के लिए उन्होंने आईसीसी की ओर से पांच सुझाव भी दिए.

डीजी होमगार्ड पीएन राय ने कहा कि ट्रैफिक पुलिस के लिए यातायात को नियंत्रित करना मुश्किल काम है. भारत में हर साल 1.40 लाख लोग सड़क दुर्घटनाओं में मर जाते है. सभी आपदाओं को मिला दिया जाए तो भी इतने लोगों की मौत नहीं होती. चीन में सड़क हादसों में सबसे आगे थे, लेकिन आज भारत पहले पायदान पर है.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.