Input your search keywords and press Enter.

अमेरिका भारत के रिश्तों को और मजबूत करने के लिए हुआ गठन

अमेरिका भारत रिश्तों को और मजबूत होगा. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई हालिया मुलाकात के बाद अमेरिकी के शीर्ष स्तर के अधिकारियों ने भारत के साथ रणनीतिक संबंध बनाने के लिए एक नए प्रयास का समर्थन किया है.

भारत-अमेरिका सामरिक भागीदारी फोरम (यूएसआईएसपीएफ) दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच संबंध को फिर से मजबूत करने और उसे व्यापक बनाने की कोशिश में है। साथ ही वह यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स के बैनर तले मौजूदा इकाई को हटाना भी चाहती है.

Loading...

ट्रंप और पीएम मोदी के बीच दिखी गर्मजोशी और मीटिंग के दौरान हुई कईं डील्स ने संकेत दे दिए थे कि उनके बीच मित्रता और प्रगाण हो रही है. इन दोनों देशों के बीच व्यापार की स्थिति बेहतर नहीं है और वाशिंगटन 31 अरब डॉलर के द्विपक्षीय घाटे को कम करना चाहता है.

सिस्को सिस्टम्स इंक के कार्यकारी अध्यक्ष जॉन चेम्बर्स ने कहा, “आज हम जो घोषणा कर रहे हैं वह एक संगठन है जिसे भविष्य के लिए डिजायन किया गया है.” जॉन यूएसआईएसपीएफ की भी अध्यक्षता कर रहे हैं.

आपको बता दें कि भारत अमेरिका के बीच व्यापारिक रिश्तों को और मजबूती देने के लिए एक नए निकाय अमेरिका भारत रणनीतिक भागीदारी मंच (यूएसआईएसपीएफ) का गठन किया गया है. बोर्ड के सदस्यों में इंदिरा नूयी (चेयरमैन एवं सीईओ, पेप्सिको) और अजय बंगा (अध्यक्ष एवं सीईओ, मास्टर कार्ड) शामिल हैं.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.