Input your search keywords and press Enter.

मुश्किल में फंसे लालू, केस वापसी पर तेज हुआ विपक्ष का हमला

lalu yadav
lalu bihar election fir

फाइल फोटो

पटना.न्यूज़ डेस्क.
राजद प्रमुख लालू यादव पर सरकार की मेहरबानी विपक्ष को रास नहीं आ रही है. आचार संहिता उल्लंघन के एक और मामले में लालू के ऊपर से मुकदमा वापस लेकर सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गयी है.

मामले में सरकार पर ताजा हमला करते हुए बीजेपी नेता नंदकिशोर यादव ने कहा है कि सीएम नीतीश लालू के दबाव में काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि आचार संहिता उल्लंघन से जुड़े कई मामले सभी दलों के नेताओं पर है.

इसी मामले पर हमला बोलते हुए सुशील मोदी ने कहा कि ‘यदि नीतीश सक्षम होते तो लालू प्रसाद के चारा घोटाले से जुड़े भ्रष्टाचार के भी सभी मुक़दमे वापस करा लेते. वे CM बने रहने के लिए कुछ भी कर सकते हैं.’

अब लालू यादव के बचाव में उतरे मंत्री आलोक मेहता ने कहा है कि विपक्ष पूर्वाग्रह से ग्रसित है. उन्होंने लालू पर सरकार के रुख को सही ठहराया है.

Loading...

उनसे पहले महागठबंधन के अन्य नेताओं ने भी मामले में लालू का बचाव किया है. विधि मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि विभागीय समीक्षा के बाद केस वापसी का फैसला हुआ है. वहीँ जदयू नेता श्याम रजक ने कहा कि बीजेपी को तथ्यों की जानकारी नहीं है और वो लालू के केस वापसी को मुद्दा बना रही है.

ज्ञात हो कि यह मामला 2014 के लोकसभा चुनाव से जुड़ा है जहाँ फुलवारी CO के आदेश पर उनके खिलाफ FIR की गयी थी. आरोप था कि लालू के इशारे पर उनके अंगरक्षक ने जिला प्रशासन के कैमरामैन को काम करने से रोक दिया था. इस मामले में चार्जशीट भी फाइल की जा चुकी थी.

इससे पहले सरकार ने लालू यादव, तेजस्वी, तेजप्रताप और 262 अन्य राजद कार्यकर्ताओं पर जुलाई 2015 में बिहार बंद के दौरान दर्ज हुआ मामला भी इसी महीने वापस ले लिया गया था.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.