Input your search keywords and press Enter.

बड़ी खबर: बीजेपी नेता कृष्णा शाही हत्याकांड में जदयू विधायक पर प्राथमिकी दर्ज….

krishna shahi
krishna shahi

file photo

न्यूज़ डेस्क: हाई प्रोफाइल मर्डर केस को गोपालगंज पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया है.एसपी रविरंजन कुमार ने प्रेस वार्ता में मीडिया को बताया कि कृष्णा शाही की हत्या अवैध संबंध के कारण ही की गयी है. उन्होंने बताया कि बीजेपी नेता का अवैध सम्बन्ध उनके ही करीबी आदित्य राय की बहन के साथ था जिसकी जानकारी आदित्य को 15 दिन पहले हुई थी.

इस जानकारी के बाद कृष्णा शाही की हत्या की साजिश आदित्य ने रची. 18 जुलाई को आदित्य के दादाजी का श्राद्धकर्म था, जिसमें कृष्णा शाही आये हुए थे. आदित्य ने खुलासा किया है कि कृष्णा की जान लेने के लिए उनके सब्जी में कीटनाशक दवा मिलाया गया जिसे खाने के बाद बीजेपी नेता बेचैनी होने लगी और वह घर से बाहर निकल गया और कुंए में गिर गया. गौरतलब है कि हथुआ के चैनपुर निवासी बिहार बीजेपी नेता कृष्णा शाही का शव फुलवरिया के मांझा गांव में कुएं में मिला था.

Loading...

इस हत्याकांड के बाद भाजपा नेता के बड़े भाई उमेश शाही ने जदयू विधायक अमरेंद्र कुमार उर्फ पप्पू पांडेय समेत छह लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी है और इन लोगों पर आरोप लगाया है कि उनके भाई को साजिश के तहत मारा गया है. उनके बहाई को सतीश पांडेय, इनके पुत्र जिला पर्षद के चेयरमैन मुकेश पांडेय, विधायक अमरेंद्र कुमार उर्फ पप्पू पांडेय, चैनपुर गांव के निवासी यशवंत राय, सुशील उर्फ राजन तथा आदित्य राय ने जहर देकर हत्या की है. इस हत्याकांड में पुलिस ने आदित्य के पुरे परिवार को अज्ञात आरोपित के रूप में अभियुक्त बनाया है.

कृष्णा शाही की शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में लाया गया. जहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच पोस्टमार्टम किया गया इसके लिए सिविल सर्जन डॉ मधेश्वर प्रसाद शर्मा ने पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल टीम का गठन किया था. गौरतलब है कि हत्या जहर देकर की जाने का आरोप है. कृष्णा शाही की जान को पहले से खतरा था. जिला प्रशासन ने उन्हें सुरक्षा के लिए चार बॉडीगार्ड दिये थे उनपर कई बार हमला हो चूका था.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.