Input your search keywords and press Enter.

पटना नगर निगम की खुली पोल, डूबी राजधानी, जनजीवन अस्त व्यस्त, सूबे में अबतक 35 मौतें


रौशन झा: भारी बारिश से जलजमाव के कारण राजधानी पटना में जन जीवन पर असर पड़ा है. राजेंद्रनगर, कदमकुआं, बैली रोड,गाँधी मैदान,सिटी,सब्जी बाग़ और पाटलीपुत्र कॉलोनी सहित राज्य की राजधानी के कई इलाकों में बहुत पानी भर गया है. वहीं पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) अरविंद कुमार रजक ने बताया कि पटना जंक्शन में ट्रैक पर पानी आने की वजह से कई ट्रेनें देरी से चल रही हैं. ट्रेन पकड़ने आ रहे यात्रियों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि पटना जंक्शन के बाहर कमर तक पानी खड़ा है.

Loading...

2 दिन पहले तक लोग बारिस में आस में बैठे थे लेकिन पिछले दो दिनों में पटना समेत पुरे बिहार प्रान्त में भारी दर्जकी गयी है. सिर्फ पटना में ही पिछले 48 घंटो में 140 mm बारिस दर्ज की गयी है, जिसके कारण अधिकांश इलाकों में जलजमाव की समस्या उत्पन्न हो गयी है. मौसम विभाग के मुताबिक कल शाम से रात तक पटना में 92.6 मिलीमीटर बारिश हुई थी. कदमकुआं पुलिस थाना पानी में डूबा हुआ है और राजेंद्रनगर का मोइनुल हक स्टेडियम झील की तरह दिख रहा है.एक महीने पहले ही राजधानी के कई इलाकों में भरे पानी को पटना उच्च न्यायालय द्वारा चिंता जताए जाने के बाद निकाला गया था. वहां एक बार फिर पानी जमा हो गया है. भारी बारिस के कारण सूबे के अधिकांश जिलों का यही हाल है, जिसके कारण सभी नदियाँ भी अपना रौद्र रूप पर है, ज्ञात हो की पिछले दो दिनों में आसमानी आफत यानी बिजली गिरने से 35 लोगों की मौत हो चुकी है.


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.