Input your search keywords and press Enter.

चर्चित सृजन घोटाले में बड़े गर्दनों को दबोचने के लिए सीबीआइ एसपी जल्द आ रही है भागलपुर …

फाइल फोटो

संजीव मिश्रा, {भागलपुर}- 1500 करोड़ के सृजन घोटाले ने भागलपुर सहित पूरे बिहार की नींद उड़ा दी है .इस मामले में अबतक 18 अभियुक्त जेल में बंद हैं, जिनमें दो की मौत हो चुकी है.दो जमानत पर बाहर आ चुके हैं .अब सृजन मामले में सीबीआइ बड़ी कारवाई के मूड में आ गयी है, जिसको लेकर जल्द ही दिल्ली से मोनिटरिंग कर रही सीबीआइ एसपी किरण एस भागलपुर पहुँच रही हैं . सीबीआइ बड़े लोगों की गर्दन दबोचने की तैयारी कर रही है .

अधिकारी सूत्रों के मुताबिक सीबीआई एसपी दिल्ली से मामले की मोनिटरिंग कर रहे हैं, इसके अलावा सीबीआइ कैंप कार्यालय सबौर में अनुसंधानकर्ता लगातार बैंक कर्मिर्यो, जिला प्रशासन के कर्मियों व पदाधिकारी समेत अन्य लोगों से पूछताछ कर रही है. सीबीआइ के पदाधिकारी बड़ी कार्रवाई के लिए अब जिला पुलिस के संपर्क में है.

1500 करोड़ की सृजन घोटाले की मुख्य अभियुक्त मनोरमा देवी का बेटा अमित कुमार, बहु प्रिया कुमार, पूर्व एडीएम राजीव रंजन सिंह समेत पूर्व कल्याण पदाधिकारी की पत्‍‌नी इंदू गुप्ता, बिपिन कुमार, रालोसपा का एक नेता बड़ी राजदार है , वे लोग ना तो पूर्व में मामले की जांच कर रही पुलिस के गिरफ्त में आए और ना ही सीबीआइ के समक्ष पूछताछ के लिए कभी उपस्थित हुए.

Loading...

अभीतक ये लोग भूमिगत ही हैं .सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सृजन मामले में सीबीआइ को कई पुख्ता सबूत हाथ लगे हैं, अमित, प्रिया कुमार और राजीव रंजन द्वारा दूसरे राज्यों में किए गए निवेश का पता सीबीआइ लगा रही है. वहीं पूर्व कल्याण पदाधिकारी की पत्‍‌नी इंदू गुप्ता द्वारा निवेश किए गए काले धन और निवेश की जानकारी सीबीआइ जुटाने में लगी है.

सीबीआइ सूत्रों के मुताबिक इन चारों को पकड़ने की भी तैयारी सीबीआइ ने कर रखी है. सूत्रों ने कहा कि जो सृजन आरोपित एसआइटी के शिकंजे से बच गए थे, अब वे सीबीआइ के राडार पर हैं. उनकी हर गतिविधि पर लगातार नजर रखी जा रही है. शहर में कई ऐसे व्यवसायी समेत अन्य लोग हैं, जो सृजन घोटाले मामले में आरोपित बनाए गए हैं.

जेल भेजे गए आरोपितों ने ऐसे लोगों का नाम लेते हुए उनकी संलिप्तता के बारे में सीबीआइ को सारी जानकारी दे दी है . ज्ञात हो कि एसआइटी की टीम को उन लोगों के खिलाफ पुख्ता कागजी साक्ष्य मिला था, किन्तु पुलिस उन्हें जब तक पकड़ती वे लोग शहर छोड़कर भूमिगत हो गए . उनके खिलाफ सारे सबूत पुलिस ने सीबीआइ को सौंप दिए हैं.सारी स्थितयों को देखकर लगता है कि अब सीबीआई बड़ी कारवाई के मूड में है, इसी सिलसिले में सीबीआई एसपी किरण एस सबौर स्थित केम्प कार्यालय जल्द पहुँच रहीं है .सारी जानकारी सूत्रों के हवाले से प्राप्त हुई है .


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.