Input your search keywords and press Enter.

मुख्य मंत्री ने बाढ एवं सुखाड़ से निपटने के लिए जिलाधिकारी को दिया निर्देश…


आरा (व्यूरो) : मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बाढ एवं सुखाड से निपटने को लेकर जिलाधिकारी को अगाह किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि कम वर्षा के कारण सुखाड़ की स्थिति बरकरार है लेकिन राज्य के बाहर अधिक वर्षा होने के कारण बाढ की संभावना भी बन सकती है इन दोनो आपदाओं से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयारी करनी होगी. कम वर्षा के कारण धान का बिचरा के पटवन हेतु डिजल अनुदान की राशि सभी जिलो मे भेज दी गई है इसे किसानों के बीच तत्परता पूर्वक वितरण करावें.

सरकारी तथा गैर सरकारी नावों का रजिस्ट्रेशन कराने तथा नाव पर क्षमता से अधिक लोगो को न बैठने का निदेश दिया. अगर क्षमता से अधिक बैठने पर नाव मालिक या नाविक पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है. नाविको को घाट पर प्रशिक्षण देने तथा आपात स्थिति मे धैर्यपूर्वक आपदा से सामना कर सके. सुखाड़ की स्थिति मे फसल योजना का लाभ किसानो तक पहुंचाने , पटवन के लिए खराब नलकूप को शीघ्र मरम्मत करने तथा नहरो मे टेल इन्ड तक पानी पहुंचाने का निदेश जिला प्रभारी सचिव को दिया.

Loading...

बाढ एवं सुखाड़ का जायजा लेकर एक सप्ताह के अंदर सभी प्रक्रिया पुरी करें. मानव और पशु पर विशेष बल दिया कि पशु के लिए चारा का भंडारण प्रखंड स्तर पर करने तथा आवश्यकता नुसार दवा का भी प्रबंध करे. विडियो काँन्फ्रेसिंग के जरिये जिलाधिकारी डाँ० बीरेन्द्र प्रसाद यादव ने बताया कि जिले 75 प्रतिशत बिचरा का आच्छादन किया गया है. जून माह मे 117 मि० मी० की अपेक्षा मात्र 46.9 एम० एम० वर्षा रिकार्ड की गई है। जिलाधिकारी ने कहा कि बाढ एवं सुखाड दोनो की तैयारी की जा रही है जिले मे 100 बाढ राहत शिविर चिन्हित किये गये है. विडियो कांफ्रेसिंग मे जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, उप विकास आयुक्त, अपर समाहर्ता, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी शंभू नाथ झा तथा जिले के सभी आलाधिकारी मौजूद थे।
रिपोर्टर — रामा शंकर प्रसाद

डेली बिहार न्यूज़ का ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें: DBN News APP


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.