Input your search keywords and press Enter.

अब भी जारी है चीन की दादागिरी, कहा भारत अपने सैनिक बुला ले नहीं तो…

india china border

india china border


चीन चोरी और सीनाजोरी से बाज नहीं आ रहा हैं. शुक्रवार को चीन ने कहा कि सिक्किम सेक्टर में सैन्य तनातनी पर भारत के साथ ‘अबाधित’ और ‘अर्थपूर्ण वार्ता’ के लिए राजनयिक रास्ता खुला हुआ है लेकिन पहले भारतीय सैनिक दोकलाम इलाके से हटें, क्योंकि उसपर बीजिंग की ‘अकाट्य संप्रभुता’ है.

Loading...

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने यहां कहा, ‘चीन और भारत के बीच वार्ता के लिए राजनयिक रास्ते अबाधित रूप से खुले हुए हैं.’ उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिकों ने चीन और भारत के बीच स्वीकृत सीमा को 18 जून को लांघा. यह पहली बार है जब चीन ने विवादित दोकलाम इलाके में भारतीय सेना के प्रवेश की तिथि स्पष्ट रूप से बतायी है. भारतीय सेना सिक्किम के पास स्थित इस क्षेत्र में चीन को सड़क निर्माण से रोकने के लिए दाखिल हुई है. चीन इस क्षेत्र को डोंगलोंग कहता है.

आपको बता दें इस यह क्षेत्र भूटान का है जबकि चीन इस पर अपना दावा करता है. भूटान की रक्षा सहयोगी होने के कारण भारत ने अपने सैनिक वहां भेजे है. भूटान ने कहा है कि चीन ने उसकी सरजमीं में सड़क का निर्माण कर समझौतों का उल्लंघन किया है. उल्लेखनीय है कि भूटान ने एक सख्त बयान में चीन से कहा था कि वह दोकलाम इलाके के दोकोला से जोमपेलरी तक भूटानी सेना शिविर की दिशा में वाहनों के परिवहन योग्य सड़क का निर्माण कार्य रोके क्योंकि यह दोनों देशों के बीच की सीमा के सीमांकन की प्रक्रिया को प्रभावित कर रहा है. चीनी प्रवक्ता ने कहा कि ‘दोकलम क्षेत्र पर चीन की अकाट्य संप्रभुता है.’

डेली बिहार न्यूज़ का ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें: DBN News APP


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.