Input your search keywords and press Enter.

बाढ़ व सुखाड़ के समीक्षा बैठक के बाद आया निर्णय, अब सिर्फ पांच जिलों पर है सूखे का असर


हाल के दिनों में हुई भारी बारिश की वजह से सरकार फ़िलहाल राहत की सांस ली है. वहीं, सुखाड़ से संकट टलता भी दिख रहा है. मौसम विभाग के अनुसार वर्षापात का गैप 48 प्रतिशत से घटकर 23 प्रतिशत पर आ गया है. ऐसे में सीएम नीतीश कुमार ने आज यानि मंगलवार को समीक्षा बैठक किये.

Loading...

इस बैठक में सीएम ने तमान जिलों में सूखे की स्थिति की समीक्षा की जिसमें पूरी तस्वीर उभर सामने आई. इस दौरान सीएम ने तमाम जिलों के डीएम से वीडियो कांफ्रेंसिंग से जुड़ कर सभी जिलों का हालात जाना. बैठक में अब 14 जिलों की बजाए सिर्फ पांच जिलों पर ही सूखे का असर माने गये. जिसमें सारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली, पटना और नालंदा पांच ही ऐसे जिले हैं, जहां पर अभी भी काफी कम बारिश रिकॉर्ड की गई है.

हालांकि सरकार ने फिलहाल डीजल सब्सिडी और खेती के बिजली बिल में कमी का फैसला अगले आदेश तक जारी रखने का फैसला किया. साथ फसल सहायता योजना का आदेवन देने की समय बढ़ा कर अब 31 अगस्त तक कर दिया गया है. बैठक के बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार और आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने बताया कि वैशाली के हालात सबसे अधिक खराब हैं. वहां सामान्य से 60 प्रतिशत से भी कम बारिश हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.