Input your search keywords and press Enter.

जिला विधिक प्राधिकार लोंगो के लिए हो रहा वरदान साबित, आपसी सहमति के आधार पर बसा उजड़ा घर ……

सुलह समझौता कराते प्राधिकार

लखीसराय,(एस0के0गांधी)-दहेज उत्पीड़न एवं घरेलू हिंसा से संबंधित लखीसराय थाना कांड संख्या 378/17 की सुचिका लाडली खातुन एवं आरोपी अभियुक्त सुचिका के पति मो असरफ के बीच डालसा सचिव उमाशंकर,रिटेनर अधिवक्ता रजनीश कुमार एवं शिवेश कुमार ने सुलह समझौता कराकर पीडिता को पति के संग घर भेज दिया है.

मालुम हो कि इस मामले में सूचिका लाडली खातून को 26 सितम्बर 2017 को उसके पति, देवर, सास और ननद बुरी तरह से मारपीट कर जख्मी हालत में जबरन घर से निकाल दिया था. जिसका इलाज सदर अस्पताल लखीसराय में ग्रामीणों के सहयोग से कराया गया तथा पुलिस में ब्यान भी कराया गया था.

Loading...

बावजूद इसके अभियुक्तों के प्रभाव में आकर पुलिस मामले को रफा दफा करने के प्रयास में लगी थी.इस बीच पीडिता डालसा का सहयोग से बीते 7 अक्टूबर 2017 को आरोप के बिरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया .

आरोपी सास, असगरी. ननद मुस्तरी ओर देवर बब्बन को जिला सत्र नयायालय से अग्रिम जमानत की सुविधा प्रदान की गई थी.तत्पश्चात्य आरोपी पति की ओर से भी जिला जज के न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका सं 378/17 दाखिल किया गया.याचिका पर सुनवाई के पश्चात्य न्यायालय ने दिनांक 15 फरवरी2018 को याचिका अस्वीकार कर दी.

याचिका अस्वीकार होने पर आरोपी पति डालसा सचिव उमाशंकर से मुकदमा मे सुलह कराने का अनुरोध किया.जिसपर सचिव डालसा के रिटेनर अधिवक्ता रजनीश और शिवेश कुमार के सहयोग से दोनों पक्षों को सम़झा बुझाकर आरोपी पति से अभिवचन पत्र लेकर शुक्रवार को पीडिता को सास एवं पति के साथ ससुराल भिजवा दिया.समझौता के समय पीडिता की मां भी उपस्थित थी.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.