Input your search keywords and press Enter.

पटना की सड़कों पर धुल फांकता बिहार का DNA

DNA-ON-ROAD

पटना.न्यूज़ डेस्क.
गांधी मैदान में कल जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बार बार बिहारी DNA बोल रहे थे तब शायद उन्हें भी अंदाजा नहीं था कि शाम ढलते ढलते बिहारी DNA सड़क पर धुल फांकता मिलेगा. गांधी मैदान और आस पास करीब 80 काउंटरों पर लोगों से लिए जा रहे DNA सैंपल बाद में सड़कों पर बिखरे मिले.

पीएम मोदी के एक भाषण के बाद डीएनए को बिहारी अस्मिता से जोड़ने वाले नीतीश ने इसके लिए बाकायदा ‘शब्द वापसी अभियान’ चला रखा है और पुरे राज्य से 50 लाख सैंपल इकठ्ठा करने का लक्ष्य रखा गया है. जदयू कार्यकर्ताओं के मुताबिक अब तक 10 लाख के लगभग लोगों ने अपना डीएनए सैंपल दिया है. सभा स्थल पर भी डीएनए सैंपल लेने के लिए ही काउंटर बनाए गए थे. लेकिन रैली खत्म होने के बाद गांधी मैदान और आसपास की सड़कों पर सैकड़ों डीएनए सैंपल फेंके हुए मिले. सड़कों पर छोटे-छोटे पॉली बैग्स में लोगों के बाल और नाखून के नमूने नजर आए.

Loading...

DNA

सड़कों पर नाखून और बाल के पॉली बैग्स मिलने के बाद बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सोशल साइट्स पर तस्वीरें पोस्ट की और दावा किया कि रैली में आए लोगों के डीएनए सैंपल तो लिये गए लेकिन जेडीयू नेताओं ने उसे सड़कों पर फेंक दिया. बीजेपी ने इस मौके पर नीतीश पर पलटवार करते हुए इसे बिहार के डीएनए का अपमान करार दिया है.

ज्ञात हो कि मुजफ्फरपुर की रैली में प्रधानमंत्री ने नीतीश कुमार के राजनीतिक डीएनए पर सवाल उठाए थे. उसी के बाद से नीतीश कुमार ने इसे बिहारी स्वाभिमान से जोड़ते हुए चुनावी मुद्दा बना रखा है.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़ :”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.