Input your search keywords and press Enter.

अर्ग देने के दरम्यान घटा हादसा, दो की मौत

accident in river

accident in river

संजीव मिश्रा, भागलपुर; कहते हैं हर किसी का किस्मत ऊपर से ही लिखा हुआ होता है, उसे कोई नही बदल सकता. बचने वाले को कोई मार भी नही सकता और जाने वाले को कोई बचा भी नही सकता. आज भागलपुर के बरारी पुल घाट पर ऐसी ही घटना घटी. सुबह का वक्त था उगते सूर्य को अर्ग देने की तैयारी चल रही थी,सूर्योदय लगभग होने ही वाला था.

आदमपुर के दो युवक राकेश कुमार, एवम संतोष साह गंगा स्नान को गए, स्नान करते करते दोनों गहरे पानी मे चले गए, हालांकि लोगो ने मना किया कि बेरिकेटिंग के आगे मत जाओ, मगर वो कहा मानने वाले?उन्हें तो काल बुला रहा था, उन्हें तो आज जाना था, सो काफी गहरे पानी जहा दलदली थी,वही फास गए.लोग देखते रह गए मगर किसी की हिम्मत काम नही की, वो समा गए, जबतक एंडीआरएफ की टीम जानकारी मिलने पर पहुचीं तबतक कुछ देर ही चुकी थी . दोनों को तो बाहर निकाल लिया गया, बदकिस्मती से दोनों की सांसें थम चुकी थी.

Loading...

सभी चमत्कार की उमीद कर रहे थे ज्ञात हो कि नहाय खाय के दिन सुलतानगंज घाट पर तीन महिला डूबी और पांच घंटे बाद भी जीवित रह गयी.मगर यह तो लगभग 45 मिनेट कब दौरान लीला समाप्त हो गयी. पूरा घाट गमहिंन माहौल में सकते में आ गया, उससे कुछ देर पूर्व भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन उस घाट से निकले थे.पूरे घाट के लोगो मे सोक की लहर दौड़ गयी.इससे पूर्व कल देर शाम डूबते सूर्य को अर्ग देने कब समय गैस ब्लास्ट करने से दो की मौत हो गयी थी. मृत युवक के परिवार जनों का आंसू थमने का नाम नहीं ले रहा. समाचार लिखे जाने तक मृत परिवार के लोग घाट पर ही बने हए हैं, शायद छठ मैया से शिकायत या विनती कर रहे हो कि उनके बच्चे को जिंदा कर दे. पर जो किस्मत में लिखा रहता उसे कोंन टाल सकता.

यह भी पढ़ें:

लालू के घर में जल्द बजेगी शहनाई, तेज प्रताप यादव ने बता दिया सबकुछ…

नीतीश ने राज्य की उच्च शिक्षा को इतना विकलांग बना दिया है, कि उसका खड़ा हो पाना अब नामुमकिन

BPSC के असिस्टेंट प्रोफ़ेसर बहाली में बड़ी धांधली का हुआ खुलासा

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.