Input your search keywords and press Enter.

सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में चंपारण को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए डीएम करेंगे पदयात्रा….


मोतिहारी,मधुरेश: चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में गांधी जी के स्वच्छता के मूल मंत्र को धरातल पर उतार कर जिले को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए जिलाधिकारी रमण कुमार अब पदयात्रा करेंगे. चंपारण का रण कार्यक्रम के तहत जिलेवासियों को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने को लेकर जागरूकता अभियान के तहत 23 से 25 दिसंबर तक जिलाधिकारी अपने अधिकारियों के साथ पदयात्रा करेंगे.

जिला स्तर पर करीब सौ किलोमीटर की इस पदयात्रा के रूट चार्ट को प्रशासनिक स्तर पर अंतिम रूप दिया जा रहा है. डीएम की इस पदयात्रा में तीन पड़ाव होंगे। पदयात्रा के दौरान अधिकारी रात्रि विश्राम गांवों में ही करेंगे. डीएम ने इस यात्रा को लेकर संबंधित प्रखंडों के अधिकारियों को तैयारी करने का निर्देश दिया है. ऐसी संभावना जतायी जा रही है कि डीएम की पदयात्रा फिर दुबारा होगी. उनका लक्ष्य है कि ज्यादा से ज्यादा प्रखंडों में इस पदयात्रा के दौरान पहुंचा जाए. इसके लिए जिले के कई अधिकारियों को कहा गया है कि वे भी इस यात्रा का हिस्सा बनें। समझा जा रहा है कि जिला सरकार इस दौरान गांव में ही रहेगी.

Loading...

file photo


बताया जा रहा है कि डीएम श्री कुमार अपनी इस यात्रा के दौरान किसी स्कूल में रात्रि विश्राम कर सकते हैं. रात्रि में जहां विश्राम होगा वहां चौपाल लगाई जाएगी और लोगों को खुले में शौच से मुक्ति के लिए जागरूक किया जाएगा. समझा जाता है कि अपनी प्रस्तावित पदयात्रा के पहले चरण में डीएम चकिया व अरेराज अनुमंडलों की यात्रा करेंगे. इसके बाद दुबारा वे सौ किलोमीटर की पदयात्रा कर दो अन्य अनुमंडलों का भ्रमण कर सकते हैं. हालांकि अभी डीएम की प्रस्तावित पदयात्रा की तैयारी चकिया व अरेराज अनुमंडलों के सभी प्रखंडों में की जा रही है. बताया जा रहा है कि डीएम श्री कुमार प्रतिदिन 33 किलोमीटर की पदयात्रा करने के बाद गांव में ही विश्राम करेंगे. डीएम द्वारा जिले को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए किये जा रहे सार्थक प्रयासों की चंपारण के बुद्धिजीवियों ने मुक्त कंठ से प्रशंसा की है.


यह भी पढ़ें:
राजद के बिहार बंद में अपने पति के जीवन बचाने के लिए भीख मांगती रही पत्नी, लेकिन….

तेजप्रताप ने दिया बड़ा बयान, गलती मान नीतीश कुमार काट दें फीता नहीं तो पुरे पटना में ट्रैक्टर चला कर……

शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला, 2015 के बाद नियुक्त शिक्षक को मिलेगा….

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.