Input your search keywords and press Enter.

शिक्षा से महिला सशक्तिकरण संभव : राज्यपाल

db5dc9ac-f04f-45af-ba28-a16e65aa3aaf
db5dc9ac-f04f-45af-ba28-a16e65aa3aaf

photo

एस.के.गांधी, लखीसराय: एक लड़की पढ़ लिखकर अपने बच्चों, परिवार एवं समाज को शिक्षित और सभ्य बनाती है. अत: लड़कियों के लिए शिक्षा बेहद अनिवार्य है. महिला सशक्तीकरण उनकी शिक्षा से संभव है. उपरोक्त बातें बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मल्लिक ने बुधवार को जिले अवस्थित बडहिया महिला कॉलेज में समाजवादी नेता कपिलदेव सिंह की 95वीं जयंती समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त की.

उन्होंने कहा कि बिहार मेघावी प्रतिभाओं की उर्वर भूमि रही है. यहां के लड़के और लड़कियां जहां भी जाते हैं अपना परचम लहराते हैं. इनको पढ़ने लिखने का पूरा संसाधन मिलेगा तो ये कहीं भी जा सकते हैं. उन्होंने कहा कि मुल्क की तरक्की वहां के नागरिकों के चरित्र से बनता है.

Loading...
b5ca5e12-58fb-49a7-bd51-1b02882e3308

photo

बिहार इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है. नीतीश सरकार लड़कियों की शिक्षा के प्रति काफी तत्पर है. राज्यपाल ने कहा कि देश कपिलदेव बाबू, लोहिया, गांधी जी के जज्बे के साथ बनता है. इनके लिए समाज सर्वोपरि था. राज्यपाल ने कहा कि कपिलदेव बाबू की धरती पर आकर हम धन्य हो गए. उनका उनसे लंबा समय तक रिश्ता रहा. वे स्पष्टवादिता के लिए जाने जाते थे. उनकी डांट सुनने वाले आज बड़े पद पर काबिज हैं. वे चरित्र एवं इमानदारी के प्रतीक थे.

इससे पहले जयंती समारोह का उद्घाटन राज्यपाल सत्यपाल मल्लिक ने मंत्री राजीव रंजन सिंह ललन, विजय कुमार सिन्हा, कुलपति नलिनीकांत झा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया एवं स्व. कपिलदेव सिंह की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी. समारोह की अध्यक्षता डॉ. अर्जुन सिंह एवं संचालन एसडीओ मुरली प्रसाद सिंह ने किया.

यह भी पढ़ें:
किराना दुकान से लाखों की चोरी, आक्रोशित ग्रामीणों और दुकानदारों ने घेरा थाना

शिक्षक संघ की चेतावनी, मांगें पूरी नहीं होने पर फिर से करेंगे हड़ताल

राष्ट्रपति का बेटा हो या भंगी की संतान, सबको शिक्षा एक समान- कृष्णनंदन यादव


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.