Input your search keywords and press Enter.

त्याग और बलिदान के पर्व पर झुके सर, सलामती और अमन चैन की मांगी दुआ.

eid namaj


छपरा. नगरा. अयूब रजा. मंगलवार को कुर्बानी का त्योहार बकरीद में पूरे अकीदत के साथ मनाया गया. त्योहार के मौके पर सुबह मसजिदों में हुई नमाज में अल्लाह से मुल्क की खुशहाली की दुआ मांगी गयी. लोगों ने परिवार के अलावा समाज व देश-दुनिया में शांति की दुआ की. त्योहार को सुबह से ही कुर्बानी की तैयारियां होने लगीं. नमाज के बाद लोगों ने एक-दूसरे से गले मिलकर त्योहार की बधाइयां दीं. ईदगाह के अलावा नगरा, खैरा , पटेढ़ा , बन्नी , नबीगंज , कादीपुर , अफौर आदि मसजिद, सहित अन्य मसजिदों में भी मुबारकबाद के लिए लोगों की भीड़ रही. विभिन्न धर्मों के लोगों ने नमाज के बाद एक-दूसरे से गले मिलकर त्योहार की बधाई दी.

बकरीद की नमाज अदा कर लौटने के बाद लोगों ने बकरों की कुर्बानी की. इसके बाद गोश्त का एक हिस्सा अपने पास रख कर अन्य दो हिस्सों को जरूरतमंदों के बीच बांटा गया. अजीज की कुर्बानी देना भी इस्लामिक धर्म का एक जरूरी हिस्सा है. इसके लिए एक बकरे को पाला जाता है. दिन-रात उसका ख्याल रखा जाता है. जो लोग बकरों को पालते हैं, उससे उनकी भावनाएं जुड़ जाती हैं. फिर उसे कुर्बान करना बहुत कठिन हो जाता है. इस्लामिक धर्म के अनुसार इससे कुर्बान हो जाने की भावना बढ़ती है.
Loading...

नये कपड़े पहन की लोगों ने पढ़ी नमाज : बकरीद की नमाज लोगों ने नये कपड़े पहन कर पढ़े. उसके बाद कुर्बानी हुई. त्योहार के मौके पर सेवइयों सहित अन्य पकवान बने. इस मौके पर घर आने वाले लोगों को दावत दी गयी. लोगों ने एक-दूसरे के घर जाकर भी बधाई दी. त्योहार के मौके पर जरूरतमंदों का विशेष ख्याल रखा गया. तीन दिनों तक मनाया जायेगा बकरीद, जिन लोगों ने मंगलवार को कुर्बानी नहीं की, वे तीन दिन के अंदर कुर्बानी करेंगे.

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a Reply

Your email address will not be published.