Input your search keywords and press Enter.

महिला सशक्तिकरण की इस योजना से नही मिल रहा महिलाओं को उनके हक का पैसा

dashrat manjhi vikas yojna

dashrat manjhi vikas yojna


शेखपुरा.ललन कुमार. राज्य सरकार के महिला सशक्तिकरण पर ग्रहण सा लगता दिख रहा है. दशरथ मांझी कौशल विकास योजना से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली महिलाओं और लड़िकयों को प्रशिक्षण अवधि की सरकारी राशि प्राप्त करने में इन दिनों एड़ियां घिसनी पड़ रही है. इस योजना से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली महिलाओं और लड़कियों ने बताया कि वे लोग 2015 में ही दशरथ मांझी कौशल विकास योजना के तहत सिलाई कटाई की प्रशिक्षण लिया था.

इस प्रशिक्षण अवधि में 100 रूपये प्रतिदिन की दर से सरकार द्वारा राशि दिए जाने की बात बताई गयी थी. अभी तक राशि की भुगतान जिला कल्याण विभाग द्वारा नहीं किया गया है. उनलोंगो ने तीन महीने तक लगातार विभाग द्वारा निर्धारित दल्लु चौक स्थित प्रीति प्रशिक्षण केंद्र से सिलाई कटाई में प्रशिक्षण ली हैं.

इस हिसाब से हर प्रशिक्षणार्थी को विभाग के द्वारा 9000 रूपये की भुगतान की जानी है, लेकिन कार्यालय प्रति दिन उन्हें राशि का भुगतान न कर चक्कर लगवा रहा है. इस कड़ी धुप में उन्हें सुदूरवर्ती गाँव से आना पड़ रहा है. इस बाबत जिला कल्याण पदाधिकारी बिरेन्द्र कुमार ने बताया कि ये सारी लड़कियां और महिलाएं दशरथ मांझी कौशल विकास योजना के तहत सिलाई कटाई का प्रशिक्षण लिया है या नहीं इसकी जांच विकास मित्र द्वारा करायी जा रही है. विकास मित्र के जांच के बाद उसके रिपोर्ट की अनुशंसा कर मुख्यालय को भेजा जायेगा. तभी उनका भुगतान हो सकेगा.

Loading...

उन्होने बताया कि महादलित विकास मिशन के तहत विभिन्न कोर्सों में कुल 1914 लोगों ने जिला में प्रशिक्षण प्राप्त किया है, जिसमे 206 लड़कियों ने सिलाई-कटाई का प्रशिक्षण ली है. प्रशिक्षण दिलाने वाले एजेंसी के द्वारा प्रशिक्षण लेने वाले लोगों के नामों की सूची वेवसाइट पर डाल दिया गया है. उन नामों का सत्यापन विकास मित्र के द्वारा किये जाने के बाद पुनः पटना भेजा जाएगा, तभी उनलोगो को भुगतान हो सकेगा.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.