Input your search keywords and press Enter.

बिहार में क्रिकेट का मैदान बन गया युद्धस्थल, मौके पर…

dipnagar cricket issue firing between two villages police on spot

dipnagar cricket issue firing between two villages police on spot


अमर वर्मा,बिहारशरीफ: नांलदा जिले के दीपनगर थाना क्षेत्र स्थित जोरारपुर और श्याम नगर के बीच क्रिकेट खेलने के विवाद को लेकर 2 गांव के बीच जमकर गोलीबारी व पथराव हुआ. घटना के संबंध में बताया जाता है कि 2 दिनों पूर्व जोरारपुर और श्याम नगर में आपसी विवाद को लेकर 2 गांव के बीच जमकर गोलीबारी हुई थी.

इलाके इसमें किसी की हताहत नहीं हुई थी लेकिन फिर अहले सुबह क्रिकेट खेलने के विवाद को लेकर 2 गांव के बीच कहासुनी हुई और देखते ही देखते दोनों गांव के बीच जमकर पत्थरबाजी रोड़ेबाजी हुई जिसमे कई पुलिसकर्मियों को भी चोटे आयी और एक का सर भी फटा ।मौके पर दीपनगर थानाध्यक्ष पहुंच मामले में हस्तक्षेप किया तो पुलिस के ऊपर ही ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और ग्रामीणों ने पुलिस के ऊपर ही जमकर पथराव किया. हालांकि इस वक्त भी ग्रामीणों के तरफ से गोलीबारी की गई इतना ही नहीं मौके की नजाकत को देखते हुए पुलिस उपाधीक्षक निशित प्रिया थानाध्यक्ष बिहार थानाध्यक्ष लहरी और थानाध्यक्ष सोहसराय समेत कई दर्जन पुलिसकर्मियों को घटनास्थल पर बुलाया गया.
deepnagar
घटना के बाद दोनों गांव में तनाव का माहौल देखा जा रहा है हालांकि इस घटना में जितना कसूरवार ग्रामीणों को ठहराया जा रहा है उतना ही कसूरवार पुलिसकर्मियों के तरफ से भी देखा जा रहा है पुलिस ने छापेमारी के नाम पर एक बार फिर से अपना तालिबानी फरमान जारी करते हुए घर में जबरन घुसकर जमकर उत्पात मचाया। जिसे जो चाहा अपने मनमाने ढंग से किसी ने खिड़की तोड़े किसी ने घर के दरवाजे तोड़े और किसी ने घर में रखे सामान को तोड़ा क्या बूढ़े क्या बच्चे क्या महिलाएं गुस्साए पुलिसकर्मियी ने सभी को घर से निकाल कर मारपीट करते हुए पूछताछ करने का काम किया. हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस उपाधीक्षक निशित प्रिया के ने खुद ही तालिबान फरमान को जारी किया था.

Loading...

फिलहाल इस घटना में कुल 7 लोगों को हिरासत में लेकर थाने पर लाकर पुलिस पूछताछ कर रही है अभी भी दोनों गांव के बीच तनाव देखा जा रहा है फिलहाल पुलिस ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए कई दर्जन पुलिस कर्मियों को घटनास्थल पर कैंप लगाकर घटना पर पैनी नजर बनाए रखने के निर्देश दिया है।घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस अधिक्षक कुमार आशीष ने घटनास्थल का दौरा किया और दोषियों के ऊपर कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया लेकिन सवाल यह उठता है कि जब विवाद श्यामनगर और जोरारपुर गांव के बीच हुई तो पुलिस ने पुलिसिया तांडव सिर्फ जुरारपुर गांव के लोगो पर क्यों किया पुलिस ने श्यामनगर इलाके में कार्रवाई क्यों नही की क्यों एकतरफा काम करने का काम किया इस बात को लेकर भी पुरे गांव में चर्चा जोरों पर है।पुरे जोरारपुर गाँव पुलिस छावनी बना हुआ है.

[shareaholic app=”recommendations” id=”18820568″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.