Input your search keywords and press Enter.

अरुण जेटली को यशवंत सिन्हा से उलझना पड़ा मंहगा, दिया करारा जवाब…

न्यूज़ डेस्क: पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा और मौजूदा वित्त मंत्री अरुण जेटली के बीच की विवाद ने नया रूप ले लिया है. यशवंत सिन्हा के लेख पर सरकार का वचाब करने उतरे अरुण जेटली ने यशवंत सिन्हा को लेकर कुछ ऐसा कह दिया जिससे सिन्हा आगबबूला हो गए और जेटली को करारा दे दिया जिसकी वो अपेक्षा नहीं कर रहे होंगे.

गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा ने लेख लिखकर सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना की. जिसका जवाब देने उतरे वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इशारों में यशवंत सिन्हा को कहा कि 80 साल की उम्र में नौकरी की तलाश है. साथ ही जेटली ने यशवंत सिन्हा के कार्यकाल की नाकामियां भी गिनाईं. जेटली ने गुरुवार को एक किताब के विमोचन के मौके पर कहा, ” मुझे लगता है कि आपकी किताब का सटीक शीर्षक होता की 70 साल का भारत, साढ़े तीन साल की मोदी सरकार और 80 की उम्र में रोजगार की तलाश.” मंदी के आरोपों का पर जेटली ने कहा, ”देश में कथित मंदी का कोई आधार नहीं है. जो लोग नोटबंदी का विरोध कर रहे हैं वो काले धन के समर्थक हैं. भारतीय अर्थव्यवस्था में अच्छा सुधार हो रहा है. सरकार ने अर्थव्यवस्था के लिए साहसिक कदम उठाए जिनका बड़ा फायदा मिलने लगा है.”

Loading...

जिस पर पलटवार करते हुए यशवंत सिन्हा ने कि अगर मैं नौकरी चाहता तो अरुण जेटली वहां ना होते. लेख के जवाब में बेटे जयंत सिन्हा के लेख पर उन्होंने कहा कि यह मुद्दे को भटकाने की कोशिश है. सिन्हा ने कहा कि अगर देश की अर्थव्यवस्था खराब है इसका जिम्मेदार वित्त मंत्री ही होगा ना कि गृह मंत्री. मैं भी व्यक्तिगत आरोप लगा सकता हूं लेकिन मैं इस जाल में नहीं फंसूगा. यशवंत सिन्हा ने कहा कि राष्ट्रहित से बड़ा कोई हित नहीं. अगर मेरे सवालों से बेटे का करियर खराब होता हो तो हो जाए.

यशवंत सिन्हा के लेख के जवाब में उनके बेटे अपने लेख में लिखा कि देश की अर्थव्यवजो लोग लेख में अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल उठा रहे हैं वो अर्थव्यवस्था में बदलाव के लिए उठाए गए कदमों को नजरअंदाज कर रहे हैं. सिर्फ एक या दो तिमाही के जीडीपी के आंकड़े से निष्कर्ष पर पहुंचना ठीक नहीं है. उन्होंने लिखा कि जीएसटी, नोटबंदी और डिजिटल पेंमेंट को बढ़ावा देना अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने की दिशा में बड़ा कदम है, आने वाले दिनों में देश की आम जनता को इससे लाभ मिलेगा. इसके बाद यशवंत सिन्हा का कहना था कि वो अपना धर्म निभा रहा है. इसी संदर्भ में उन्होंने कहा कि अगर देश की अर्थव्यवस्था खराब है इसका जिम्मेदार वित्त मंत्री ही होगा ना कि गृह मंत्री.
यह भी पढ़ें:
यशवंत सिन्हा ने फिर से मोदी सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, कहा….

अपने ही लोगों से घिरे मोदी पर अब राजद हुआ आक्रमक, सीएम को भी नहीं छोड़ा, कहा नीतीश तो…

मोदी सरकार के नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले दिग्गज बीजेपी नेता के समर्थन में उतरे लालू यादव कहा…

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.