Input your search keywords and press Enter.

‘अल्पसंख्यक शब्द की परिभाषा को बदलने की जरूरत’

GIRIRAJ-ANI

GIRIRAJ-ANI


केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि पूरे देश में मुसलमानों की संख्या 20 करोड़ है. ऐसे में वे अल्पसंख्यक कैसे हो सकते है. उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक शब्द की परिभाषा को बदलने की जरूरत है. गिरि​राज ने यह बातें एक नीजि चैनल से बातचीत में कही. उन्होंने कहा कि देश में ऐसे 20 जिले हैं जिनमें मुसलमानों की आबादी 50 फीसदी से अधिक है मगर फिर भी वहां मुसलमान अल्पसंख्यक है.

​केंद्रीय मंत्री ने एक एजेंसी का हवाला देते हुए कहा कि बिहार के किशनगंज में मुसलमानों की संख्या 70 प्रतिशत है जबकि हिन्दुओं की आबादी मात्र 20 फीसदी के आसपास ही है. फिर भी किशनगंज जिले में हिंदुओं को बहुसंख्यक बताया जाता हैं और मुसलमानों को अल्पसंख्यक. उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक की परिभाषा को दोबारा परिभाषित करने की जरूरत है. देश में बहुत सारे ऐसे प्रखंड हैं जहां मुसलमानों की आबादी 90 फीसदी तक हैं लिहाजा अल्पसंख्यक की परिभाषा बदलने की जरुरत है.
Loading...

उन्होंने कहा कि सदन के अंदर और बाहर अल्पसंख्यक की परिभाषा पर चर्चा करने की जरूरत है. कुछ पार्टियां मुसलमानों को केवल वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल कर रही हैं. यह देश के साथ साथ मुसलमानों के लिए सही नहीं है. ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर गिरिराज सिंह ने कहा कि इस मुद्दे पर बेवजह हमलोगों को बदनाम किया जा रहा हैं. शोषित और प्रताड़ित मुस्लिम महिलाओं ने कोर्ट से गुहार लगाईं हैं. मामला कोर्ट हैं. इसमें भाजपा और केंद्र सरकार का कोई लेना देना नहीं हैं.

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.