Input your search keywords and press Enter.

हादसों के बाद ही खुलती है रेल प्रशासन की नींद,हादसे को न्योता देता रेल पटना का यह रेल पूल!

rajendra-nagar-railway-foot-bridge


हितेश कुमार, पटना: भारतीय रेल आये दिन भाड़ा बड़ा कर अपने खजाने में भरने का काम करने में जुटा रहता है परन्तु लोगों की सुविधाओं पर नजर नहीं डालती है. अक्सर यह देखा गया है कि रेल हादसे के बाद रेल प्रशासन कि नींद खुलती है नहीं तो चैन की नींद सोये रहते है रेलवे के अधिकारी कुछ ऐसा ही नजारा राजेंद्र नगर टर्मिनल पर बना बहादुर पूल पर देखने को मिलता है.

कंकडबाग से राजेंद्रनगर और बाजार समिति से लेकर आसपास इलाकों तक जाने के लिए लोग इस ब्रिज को पैदल पार करते है तो इस बात को ध्यान में रखते हुए सावधानीपूर्वक चलते हैं कि कहीं हादसे का शिकार न हो जाएं रेलिंग टूटा होने के वजह से बच्चो के लिए यह खतरा कि घंटी के सामान है पर अभी तक रेल विभाग इस तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है.
Loading...

स्थानीय बहादुरपुर के लोगों का कहना है कि आने-जाने वाले लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, शाम के समय इससे गुजरने वाले लोगों ने भय होता है. इस फुट ओवर ब्रीज से गुजरने वाले लोगों का कहना है कि इस पर चढना-उतरना खतरे से खाली नहीं है, सरकार को इस तरफ कोई ध्यान नहीं है. लोग आगे बताते हैं कि जब तक पुल से कोई दुर्घटना नहीं होती प्रशासन का इधर ध्यान नहीं जाएगा.

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a Reply

Your email address will not be published.