Input your search keywords and press Enter.

मांझी ने फिर किया नीतीश पर जोरदार हमला, कयासबाजी हुई और तेज…

nitish kumar jeetan ram manjhi
nitish kumar jeetan ram manjhi

file pic

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने अलौली प्रखंड के लक्ष्मी देवी उच्च विद्यालय के प्रांगण में आयोजित ‘स्वाभिमान सम्मेलन’ में बोलते हुए उन्होंने नीतीश कुमार बिना नाम लिए निशाना साधा. कहा जब मुख्‍यमंत्री रहते उन्‍होंने गरीबों के हित में काम करना शुरू किया, तो कुर्सी ही छीन ली गई. उन्होंने कहा कि समस्याओं के समाधान के लिए विधानसभा में गरीबों का प्रतिनिधि होना चाहिए.

मांझी ने कहा कि आजादी के इतने सालों के बाद भी गरीबों के प्रति हमदर्दी रखने वाले नेताओं की कमी है. इस राज्य में भोला पासवान शास्त्री, रामसुंदर दास व जीतनराम मांझी को मुख्यमंत्री बनाया गया. लेकिन, तीनों दलित मुख्यमंत्री राजनीतिक संकट को दूर करने के लिए बनाए गए थे. वे विधायकों द्वारा चुने नहीं गए थे. यही कारण है कि जब भी ऐसे मुख्यमंत्री काम करना चाहते हैं, तो उन्हें हटा दिया जाता है.

Loading...

मांझी ने अपना दुखरा रोते हुए कहा कि मुख्यमंत्री बनने के चार माह तक ताक-झांक में बीत गया लेकिन जब काम शुरू किया तो तो सिपाही से डीजीपी तक व चपरासी से प्रधान सचिव तक सबने विरोध करना शुरू किया. मैंने गरीबों के हित में 34 निर्णय लिए, लेकिन उन्‍हें लागू नहीं किया जा रहा है. कहा कि जब गरीब के हित की बात करता हूं, तो राजग व जदयू के लोग विरोध कर देते हैं. इसलिए ‘हम’ ने इन सभी मुद्दों पर विचार- विमर्श के लिए आगामी 8 अप्रैल को गरीब रैली का आयोजन किया है. इसमें सरकार के साथ रहने सहित विभिन्न मुद्दों पर निर्णय लिया जाएगा.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.