Input your search keywords and press Enter.

चल गया पता कैसे जीती बीजेपी, क्यों फेल हो गये अरविंद केजरीवाल

modi kejriwal

modi kejriwal


न्यूज़ डेस्क: दिल्ली एमसीडी के चुनावों में बीजेपी को भारी जीत मिली इसको लेकर जहाँ एक और बीजेपी का आत्म विश्वास बढ़ा है वहीं दिल्ली की शेर मानी जाने वाली आम आदमी पार्टी को जबर्दस्त झटका लगा है. सबलोग यही जानना चाहते है कि आखिर बीजेपी को इतनी भारी बहुमत क्यों और कैसे मिली. एक रिपोर्ट के अनुसार इसबार लोगों ने मोदी के विजन और काम के आधार पर वोट किया है. अमित शाह की स्ट्रेटजी फिर काम आई. उन्होंने मौजूदा किसी भी पार्षद को टिकट ने देकर अलग उम्मीदवार खड़ा कर सबकी नाराजगी को ही ख़त्म कर दिया. नए चेहरों की वजह से करप्शन और काम न करने की शिकायतें खत्म सी हो गईं.

कहा जा रहा है कि पूर्वांचल के वोट लेने में अभिनेता मनोज तिवारी का नेतृत्व बहुत काम आया. मनोज तिवारी के साथ रविकिशन ने भी लगातार प्रचार किया और विधानसभा चुनावों में ‘आप’ के खेमे में गए पूर्वांचली मतदाताओं को बीजेपी से जोड़ने में अहम रोल अदा किया. इसके अलावा कांग्रेस को जहाँ विधानसभा चुनावों में 9 फीसदी वोट मिले थे, जबकि इस बार वह 21 पर्सेंट वोट पाने में सफल रही. इस तरह एमसीडी चुनाव का मुकाबला पूरी तरह त्रिकोणीय हो गया. इस तरह बीजेपी को आप और कांग्रेस के बीच वोट बंटने का बड़ा फायदा मिला.

Loading...

केजरीवाल द्वारा लगातार पीएम नरेंद्र मोदी और एलजी पर हमला बोलना कही न कहीं जनता को पसंद नहीं आया. उनकी पब्लिक में विवादों में रहने और हमलावर होने की छवि बनी. 2015 के विधानसभा चुनाव में मध्यम वर्ग के बड़े तबके ने आम आदमी पार्टी को वोट दिया था. लेकिन इस बार वह छिटक गया। पिछली बार ‘आप’ को 54 पर्सेंट वोट मिले थे, जबकि इस बार सिर्फ 26 फीसदी से ही संतोष करना पड़ा.

[shareaholic app=”recommendations” id=”18820568″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published.