Input your search keywords and press Enter.

मायावती के बाद लालू को लग सकता है एक और बड़ा झटका…

lalu yadav
lalu yadav

फाईल फोटो

राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव की ओर से 27 अगस्त को पटना में होने वाले ‘बीजेपी हटाओ-देश बचाओ’ रैली में विपक्षी एकता को झटका लग सकता है. पहले मायावती के आने पर संशय बना हुआ है वहीं अब लेफ्ट पार्टियों को असमंजस में डाल दिया है. इस रैली को बीजेपी के खिलाफ एकजुटता दिखाने का प्रयास माना जा रहा है, लेकिन वामपंथी पार्टियां ममता बनर्जी और करप्शन के आरोप झेल रहे अन्य नेताओं के साथ मंच नहीं साझा करना चाहतीं.

Loading...

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वामपंथी पार्टियां भ्रष्टाचार के आरोपो में घिरे नेताओं के साथ मंच साझा करने में हिचकिचा रही हैं, ऐसे में कोई नहीं जानता कि ये दल इस रैली में उपस्थिति दर्ज कराएंगे या नहीं. हालांकि बीते गुरुवार को ही शरद यादव की ओर से संसद भवन में आयोजित विपक्षी दलों की बैठक में वामपंथी दल मौजूद थे, लेकिन लालू की इस रैली से लेफ्ट पार्टियां किनारा कर सकती हैं.

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि इस बारे में उनकी पार्टी ने अभी कोई फैसला नहीं लिया है. येचुरी ने इकनॉमिक टाइम्स को बताया, ‘सभी 6 वामंपथी दल मीटिंग करेंगे और उसके बाद आखिरी फैसला लिया जाएगा.’ हालांकि सूत्रों का कहना है कि सीपीएम के कई नेता इस रैली में भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहे नेताओं के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.