Input your search keywords and press Enter.

भीषण सड़क हादसे में बूझ गया सांसद रामाकिशोर सिंह के घर का चिराग, लोजपा में शोक की लहर…

Car_Accident rama sing son

Car_Accident rama sing son


मधुरेश, मुज़फ़्फ़रपुर: वैशाली के लोजपा सांसद रामा किशोर सिंह उर्फ़ रामा सिंह के घर का चिराग आज बूझ गया. यूपी के इलाहाबाद में हुई सड़क दुर्घटना में शनिवार को सांसद श्री सिंह के इकलौते पुत्र राजीव प्रताप सिंह की मौत हो गयी. बेटे की मौत की खबर जिस समय सांसद रामा सिंह को मिली उस समय वे झारखंड में थे.

इस मनहूस खबर को सुनते ही वे बेहोश हो गए किसी प्रकार साथ रहे लोगों ने उन्हें होश में लाया. वहां से वे तुरंत पटना के लिए चल दिए. लेकिन रास्ते में बार-बार बेहोश हो जा रहे थे. मां वीणा सिंह की स्थिति पटना में खराब है. राजीव की पत्नी को तो संभालना ही मुश्किल हो रहा है.

राजीव प्रताप का घर में दुलार का नाम राहुल था राजीव की तीन बहने भी हैं. जिनका नाम क्रमशः ऋचा, संगीता और श्वेता है. बड़े प्यार-दुलार में पला-बढ़ा था माता-पिता ने अपने जिंदगी के बुरे दिनों से राजीव को बहुत दूर रखा था. राजीव अपने पिता के स्वभाव से बिलकुल भिन्न थे. पिता भी नहीं चाहते थे कि वह उनके रास्ते पर चले. राजीव अपने बूते जिंदगी में आगे बढ़ रहा था. राजनीति में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं थी. केनरा बैंक में पीओ की नौकरी मिलने के पहले राजीव पटना के राजीव नगर में चलनेवाले स्कूल में अपनी मां का सहयोग करते थे.

rama singh son

file photo


केनरा बैंक में पीओ की नौकरी लगी, तब भी उसने बिहार ट्रांसफर कराने की जिद नहीं की. राजीव ने हिमाचल प्रदेश को ज्यादा अच्छा माना वहीं योगदान दिया. पिछले साल 2016 में 16 मई को ही रामा सिंह ने अपने इकलौते बेटे राजीव की शादी बड़े धूमधाम से की थी. राजीव शादी के एक साल पूरा होने पर पटना आये थे. यह राजीव की आदत शुरूआत से ही थी कि वह लांग ड्राइव पर जाते थे. मां-पिता कितना भी कहते, ड्राईवरों पर राजीव का भरोसा नहीं होता था. तभी तो वह फिर से होंडा सिटी कार को लेकर अकेले दिल्ली होते हुए हिमाचल प्रदेश जाने को निकल पड़े थे. केनरा बैंक की नौकरी में आने के बाद यह कार राजीव ने हिमाचल प्रदेश में ही खरीदी थी. पटना से चलने के बाद वह कुछ देर के लिए वाराणसी में रुके थे.

Loading...

दुर्घटना इलाहाबाद-वाराणसी हाईवे पर बनकट गांव के पास दोपहर 3 बजे के करीब हुई. राजीव अपनी कार को ओवरटेक करने की कोशिश कर रहे थे, तभी कार ट्रक से टकरा गई. टक्कर लगते ही कार पलटी और सर्विस लेन से नीचे जा गिरी. इस सड़क हादसे को देख स्थानीय लोगों ने पुलिस को खबर दी.

कुछ ही देर में सोराव के थानाध्यक्ष सतेन्द्र सिंह मौके पर पहुंचे और गंभीर रूप से घायल राजीव को स्वरुप रानी नेहरु अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. पुलिस के मुताबिक़ हादसा इतना खतरनाक था कि कार का रिम भी फट गया. पोस्टमार्टम के बाद राजीव के शव को पटना के लिए रवाना कर दिया गया. सांसद श्री सिंह के पटना आवास पर उनके समर्थकों की भारी भीड़ जूटी हुई है. गमगीन माहौल में सभी यही सोच रहें हैं कि आखिर एक पल में क्या से क्या हो गया.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.