Input your search keywords and press Enter.

नवरात्रि के इस पावन अवसर पर लोगों ने दिखाई गुंडागर्दी, महादलितों को मंदिर जाने पर लगाया प्रतिबन्ध…

22_09_2017-temple_copy

22_09_2017-temple_copy

ये वाक्या सुगौली प्रखंड के देवदतवा गांव की है. जहां एक महादलित को मातारानी की पूजा करने से रोकने का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है की गया का महादलित गांव में देवी की पूजा के लिए बने पंडाल में गुरुवार महादलित कलश स्थापित करने वहां पहुंचा.

मंदिर में उपस्थित मौजूद पूजा समिति के सदस्य, पुजारी एवं पंचायत समिति के सदस्य ने उसे पंडाल में जाने से मना कर दिया. जिससे उन दलितों को बहुत ही ठेस पहुंचा. इसी गांव का रहने वाला विभीषण राम के पुत्र देवीलाल राम ने थाने में आवेदन दिया है. उसका कहना था की दुर्गा पूजा के अवसर पर पूजा-अर्चना के लिए गांव में बने पंडाल में गया और वहां एक कलश स्थापित करने की इच्छा जगी जिसके लिए वह मंदिर में गया.

Loading...

लेकिन, वहां के लोगों ने रोका और जात पात वाली बातें करने लगे एवं गलत शब्दों का भी प्रयोग करते हुए दुव्र्यवहार किया. पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी है. मुख्य तौर पर बताया गया कि पूजा समिति में शामिल नहीं किए जाने को लेकर ये पूरा विवाद हुआ है.

थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि आवेदन मिला है. मामले की जांच की जा रही है लेकिन गिरफ़्तारी की कोई बात सामने नहीं आई है. प्रारंभिक तौर पर कई बातें सामने आई है. किसी को भी कानून के खिलाफ जाने का अधिकार नहीं है. जांच के बाद दोषी पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें:
देखते ही देखते यहां टूट कर गिर पड़ी रेलवे फाटक, बाल-बाल बची….

हाय रे सुशासन ! थाना के सामने से चोरों ने बाइक उडा़ई

इन शिक्षकों के दशहरा की खुशी में मुखिया ने लगाई आग

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.