Input your search keywords and press Enter.

सीनियर अधिकारी बन बिहटा के लड़के ने शिवहर के अभियंता से फ़िल्मी तरीके से ठगे 10 लाख रुपए

fraud

fraud

मधुरेश,शिवहर. मोबाईल पर विभागीय सचिव बनकर पीएचईडी शिवहर के कार्यपालक अभियंता मनीष कुमार से उच्चकों ने 10 लाख रुपया ठग लिया है. ठगी के इस मामले को उच्चकों ने बडे़ ही साफगोई से अंजाम दिया है. मामले का जब खुलासा हुआ उससे पहले अपने खाते में पैसा ट्रांसफर्र कराने वाले उच्चके ने राशि की निकासी भी कर ली. इस बाबत कार्यपालक अभियंता मनीष कुमार ने शिवहर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है.

प्राथमिकी के अनुसार कार्यालय अवधि में सरकारी मोबाइल पर विनय कुमार सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग बिहार पटना द्वारा एक फोन कार्यपालक अभियंता मनीष कुमार को किया गया जिसमें बताया गया कि मैं अस्पताल से लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग बिहार पटना का सचिव विनय कुमार बोल रहा हूं मुझे तुरंत 10 लाख रूपये भेजो, मैं इमरजेंसी में हुं.संध्या तक रुपया वापस कर दूंगा.

कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि मैं 10 लाख रूपया देने में वे असमर्थ हैं तो फोन करने वाले ने बताया कि किसी संवेदक से व्यवस्था कराओ काफी इमरजेंसी है. कार्यपालक अभियंता ने उनकी बातों में आकर विभाग के संवेदक मनोज कुमार सिंह कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड शिवहर से 10 लाख रुपए का चेक लेकर फोन करने वाले फर्जी सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के नाम भेज दिया.

Loading...

पैसा भेजने के समय स्टेट बैंक शिवहर के शाखा प्रबंधक से मोबाइल धारक को बात भी कराया गया तथा मनोज कुमार सिंह कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के मनोज सिंह ने भी मोबाइल धारक से बात कर चेक देने की बात कही.आरटीजीएस के माध्यम से पैसा ट्रांसफर्र करने के बाद कार्यालय पहुंचकर कार्यपालक अभियंता मनीष कुमार ने जब अपना मेल खोला तो मेल पर एक विभागीय पत्र निर्गत किया गया था जिसमें सचिव द्वारा बताया गया था कि मेरे नाम से फर्जी तरीके से रुपए की वसूली एवं धोखाधड़ी किया जा रहा है इस तरह का घटना होने पर प्राथमिकी दर्ज कराएं.

मेल को देखकर कार्यपालक अभियंता हक्का वक्का रह गये.वे तुरंत स्टेट बैंक पहुंचकर बैंक मैनेजर के माध्यम से जो खाता नंबर दिया गया था केनरा बैंक पारियो थाना बिहटा पटना के मैनेजर से बात कर भुगतान रुकवाने का काफी प्रयास किया गया.लेकिन केनरा बैंक के मैनेजर के मिलीभगत से दो लाख रुपए से अधिक कैश ट्रांजैक्शन नहीं करने के बावजूद तुरंत उसी दिन 10 लाख रुपए का निकासी करा दिया गया.

खुलासा में पता चला है कि ठगी करने वाला राजीव रंजन पिता परमात्मा सिंह ग्राम लेखन टोला पोस्ट पारियों थाना बिहटा जिला पटना का नाम सामने आया है. कार्यपालक अभियंता ने तुरंत शिवहर थाना में उक्त ठगी करनेवाले राजीव रंजन एवं ब्रांच मैनेजर केनरा बैंक पारियों के खिलाफ मिलीभगत एवं षड्यंत्र करके धोखाधड़ी करने का आरोप लगाते हुए 10 लाख रुपए की ठगी करने की प्राथमिकी दर्ज कराई है.प्राथमिकी दर्ज होने के साथ ही शिवहर पुलिस इस मामले की जांच में जूट गयी है.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.