Input your search keywords and press Enter.

गंगा नदी में हजारों लीटर शराब बहाने को लेकर शेंगर ने सरकार के खिलाफ किया PIL दायर

manibhushan senger


अजित कुमार : अधिवक्ता मणिभूषण प्रताप शेंगर ने आज बिहार पुलिस और बिहार सरकार के खिलाफ गंगा नदी में हजारों लीटर शराब बहाने को लेकर एक PIL दाखिल किया है. जिसे पटना हाईकोर्ट ने स्वीकार किया है. बता दें कि बिहार में शराबबंदी कानून के लागु होने के बाद से चोरी छुपे शराब मिलने का सिलसिला लगातार जारी है.

एक बड़े कार्यवाई के तहत बरामद शराब को कभी रोलर चला कर तो कभी बोतल फोड़ कर पुलिस अधिकारी द्वारा नष्ट भी किया जा रहा है. पर बिहार में पटना पुलिस के द्वारा शराब नष्ट करने का एक अनोखा तरीका सामने आया है. शराबबंदी के नोडल अफसर सह अपर पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय सह अभियान) राकेश कुमार दुबे के नेतृत्व में पटना पुलिस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘नमामि गंगे योजना’ की धज्जियां उड़ाती दिखाई दी. इस दौरान पटना सिटी एएसपी हरिमोहन शुक्ला, फतुहा डीएसपी अनोज कुमार के साथ ही वैशाली जिला पुलिस के भी अधिकारी मौजूद थे.

Loading...

पटना पुलिस की टीम ने सुचना के आधार पर वैशाली के दियारा इलाके से हजारों लीटर शराब की बरामदगी की थी. इसके बाद हजारों लीटर शराब को गंगा नदी में ही बहा दिया गया था. जिसे लेकर ही आज अधिवक्ता मणिभूषण प्रताप शेंगर द्वारा पटना हाईकोर्ट में PIL दायर किया गया है.

इस बाबत जब मीडिया ने आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस मुद्दे पर पूछा तो उन्होंने बताया कि मुझे इसकी जानकारी नही है. यदि ऐसा हुआ है तो ये गलत है. इसपर कार्यवाई की जाएगी. शराब को नष्ट करना है न की कोई नदी में बहाना है. गंगा नदी हो या कोई भी नदी हो ऐसा बर्दाश्त नही किया जाएगा.

[shareaholic app=”recommendations” id=”18820568″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.