Input your search keywords and press Enter.

बिग ब्रेकिंग: evm पर मायावती को मिली बड़ी सफलता राज्य सभा में बहस के बाद आया नया मोड़ बीजेपी ने कहा …!

evm-mayawati


प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच प्रतिद्वंदिता जग जाहिर है. लेकिन प्रदेश विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद अब दोनों पार्टियों के राग मिलते दिखाई दे रहे है. वजह कोई और नही बल्कि इलेक्ट्रोनिक मशीन evm है. आपको बता दे कि evm मशीन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में वकील मनोहर लाल शर्मा ने याचिका भी दायर किया है. जिस पर सुनवाई होना अभी बाकी है.

फिलहाल राज्यसभा में आज एकबार फिर evm का मुद्दा बहस का केंद्र बन गया. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भिंड में ईवीएम में छेड़छाड़ का मामला सदन में उठाया. बसपा सुप्रीमों मायावती ने मध्यप्रदेश के भिंड में हुई evm छेड़-छाड़ का मुद्दा उठाकर विपक्ष को समर्थन दिया. उन्होंने कहा की इसकी जाँच गंभीरता से होनी चाहिए, हम इसकी शिकायत सुप्रीम कोर्ट में भी करेंगे.

तो सपा नेता रामगोपाल यादव ने भी ईवीएम मुद्दे की जांच कराने की मांग की. कांग्रेस के गुलाब नबी आजाद ने भी मायावती की मांग का समर्थन किया और ईवीएम से चुनाव बंद करने की मांग की. आपको बता दे कि रामगोपाल, मायावती, और कांग्रेस तीनों पार्टियों के एकसाथ राज्य सभा में एक दुसरे का समर्थन करना, कही ना कही लोकसभा 2019 में महागठबंधन बनने का संकेत भी दे रहा है. बीजेपी के तरफ से राज्य सभा में evm को लेकर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने पलटवार किया और कहा कि जनता के जनादेश पर सवाल उठा रहे दलों का रवैया ठीक नहीं है. बीजेपी के सदस्यों ने भी विपक्षी दलों पर आरोप लगाया कि वे जनता पर आरोप लगा रहे हैं.
मध्य प्रदेश की भिंड का वायरल वीडियो:-

क्या है भिंड का मशला?
हाल ही की खबर, यह रिपोर्ट मध्यप्रदेश भिंड से है, जहां दो विधानसभा सीटों पर 9 अप्रैल को उपचुनाव होना है. इसको लेकर जब evm मशीनों की जाँच की गई तो बटन किसी पार्टी का दबावों वोट बीजेपी के खाते में जाते दिखा, ऐसा कहना है कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंग का, उनके मुताबिक मशीनों का उपयोग उतरप्रदेश चुनाव के दौरान भी किया गया था.

Loading...

-इसे कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने शेयर करते हुए लिखा, ‘उप्र में उपयोग की गईं मशीनों का कमाल. मप्र के अटेर उप चुनाव में राज्य चुनाव आयुक्त के सामने बटन दबाने पर कमल को वोट।’ – { जनसत्ता रिपोर्ट}

– दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने लिखा, ‘बटन कोई भी दबाओ, वोट कमल को पड़ेगा…पर्ची में कुछ भी आए, प्रेस में नहीं आना चाहिए… नहीं तो पत्रकार को थाने में बिठा देंगे। लोकतंत्र खत्म.’-{ जनसत्ता रिपोर्ट}

– कहा जा रहा है कि ईवीएम के साथ जो VVPAT की मशीन लगी थी उसमें वोट डालने पर वह भाजपा की पर्ची निकली थी.

– अब चुनाव आयोग ने भिंड जिले के जिला मजिस्ट्रेट और एसपी पद के लिए नए नामों के सुझाव मांगे हैं. यह आदेश उन रिपोर्टों के आने के बाद लिया गया जिसके तहत यह बात सामने आई कि VVPAT वाली मशीनों में बटन दबाते ही बीजेपी के कमल के निशान की पर्चियां निकल रही हैं- एंडी टीवी.

– evm मुद्दे में सबसे बड़ी बात ये है कि एक ट्वीट इस प्रकार है जो बड़े धांधली के तौर पर दर्शता है:- भिंड में EVM का जो मामला सामने आया है यही मशीन UP चुनाव में इस्तेमाल की गयी. सत्यदेव कोई और नहीं योगी सरकार के मंत्री है. अब देखना होगा की इस खुलासे के बाद उतर-प्रदेश में विधानसभा चुनाव पर क्या प्रतिक्रिया आता है.

evm पर राजनीतिक दलों और नेताओं के ट्वीट कुछ इस प्रकार आये है.





[shareaholic app=”recommendations” id=”18820568″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

One Comment

  • satendra kumar says:

    Mujhe sak ho raha he ki kahin chunaw ayog bhi Samil to nahin. Kyon ki men kai trike se gad-vad kar sakata hun machineon men
    Ska matalaw ye hua janta ka koi astatw nahin.mujhe kishi parti se matalaw nahin na ki kishi jati wad se .ish tarike se janta ke sath viswash ghat karane Wallon ko maph nahin kiya jaye chahe khud men kyon n hun .

Leave a Reply

Your email address will not be published.