Input your search keywords and press Enter.

दादरी के मो. अखलाक का गया में हुआ पिंड दान

akhlaq

akhlaq


गया.न्यूज़ डेस्क.
सामजिक सद्भाव की अद्भुत मिसाल पेश करते हुए मोक्ष प्रदान करने वाले शहर गया में दादरी के मो. अखलाक का भी पिंड दान किया गया. समाजसेवी चंदन कुमार सिंह ने यहाँ मृत आत्मा की शांति के लिए पिंडदान किया.

दादरी कांड में मारे गए मोहम्मद अखलाक के साथ ही यहाँ हज यात्रा में मारे गए हाजियों, पाकिस्तान के पेशावर में हुए आतंकी हमले में मारे गए 132 बच्चों और छत्तीसगढ़ मे नक्सली हमले में शहीद 10 जवानों और पेरिस में हुए आतंकी हमले में शहीद 10 पत्रकारों की आत्मा की शांति के लिए भी हिन्दू धर्म के अनुसार पिंडदान किया गया गया. पुरोहित और कर्मकांडी जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी राघवचार्य के निर्देशानुसार तर्पण आदि कर्मकांड विधि पूर्वक किया गया. यहाँ आपको बता दें कि समाजसेवी सुरेश नारायण सिंह ने इस परम्परा की शुरूआत की थी जिसे पिछले साल मृत्यु के बाद उनके पुत्र चंदन कुमार सिंह ने भी कायम रखा है.

Loading...

यहाँ हर साल इस तरह के देश-विदेश की दुर्घटनाओं में मारे गए लोगों, आकस्मिक मृत्यु, रेल दुर्घटना, भूकंप, बाढ़ और विभिन्न दुर्घटना में मारे गये हजारों लोगों की आत्मा की शांति के लिए पिंडदान किया जाता रहा है. पिंडदान, तर्पण, प्रवाह आदि के बाद गरीबों को भोजन भी करवाया जाता है. हिन्दू धर्म की मान्यताओं के अनुसार गया में नवमी तिथि को पिंडदान करने से मृतआत्मा को शांति मिलती है.

(स्रोत:News18)

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.