Input your search keywords and press Enter.

नीतीश के ट्रिपल तलाक के बयान से हुआ रार! बीजेपी ने लिया अड़े हाथों

nitish

nitish


न्यूज़ डेस्क: सोमवार को बिहार पूर्व डिप्टी सीएम व बीजेपी के नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार ने ‘तीन तलाक’ के मामले पर तुष्टीकरण की नीति के चलते मुस्लिम कठमुल्लाओं के समक्ष घुटना टेक दिया है. मोदी ने कहा कि राजगीर में जदयू की राष्ट्रीय परिषद के मीटिंग में सीएम का ‘तीन तलाक’ के मुद्दे पर दिया गया बयान मुस्लिम महिलाओं का अपमान है.

आगे सूमो ने कहा कि ट्रिपल तलाक समाप्त करने का मुद्दा बीजेपी ने नहीं, बल्कि मुस्लिम महिला संगठनों के तरफ से सुप्रीमकोर्ट में उठाया गया है. बीजेपी ने तो सिर्फ अदालत के निर्देश पर महिलाओं के सम्मान, स्त्री-पुरुष समानता व धर्म की आड़ में महिलाओं के अधिकारों के हनन पर अपनी टिप्पणी दी है. मोदी ने सवाल करते हुए पूछा कि नीतीश कुमार बताएं कि अगर आज सती प्रथा जैसी बुराइयों को समाज पर छोड़ दिया गया होता तो यह कुप्रथा कभी समाप्त हो पाती क्या?

लड़कियों के विवाह की उम्र बढ़ाने व हिंदू कोड बिल पर अगर हिंदुओं के विरोध का ध्यान रखा जाता तो क्या ये कानून कभी लागू हो पाता? क्या समाज में कोई भी बदलाव विरोध के डर से नहीं होना चाहिए? आपको बता दें कि राजगीर में जदयू की दो दिवसीय राष्ट्रीय परिषद की बैठक थी जिसमे सीएम नीतीश ने ट्रिपल तलाक के मामले पर केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा था कि यह मामला मुस्लिम धर्मगुरुओं पर छोड़ देना चाहिए.

Loading...

नीतीश कुमार ने देश में समान नागरिक संहिता को गैरजरूरी बताते हुए कहा कि विविधता ही अपने देश की खासियत है. उन्होंने सवाल करते हुए पूछा था कि, “आप समान नागरिक संहिता बनाने और तीन तलाक को खत्म करने वाले कौन होते हैं?”

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a Reply

Your email address will not be published.