Input your search keywords and press Enter.

मुजफ्फरपुर कांड : राजद और कांग्रेस ने ब्रजेश ठाकुर के सीडीआर को सार्वजनिक करने का किया मांग, जदयू ने किया पलटवार

मुजफ्फरपुर मामले को एक ओर सीबीआई जांच तेज कर दी है तो दूसरी तरफ इसे लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है. पक्ष और विपक्ष के बीच जुबानी बयानबाजी खूब हो रही है. इसी कड़ी में राजद और कांग्रेस ने ब्रजेश ठाकुर के सीडीआर को जनता के सामने सार्वजनिक करने की मांग किया है.

राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज कुमार झा ने खुल कर कहा कि मंत्री तो अभी छोटी मछली है, बड़ी सार्क मछली तो पकडानी अभी बाकी है. वहीँ, राजद नेता और शिवचंद्र राम ने मुज़फ्फापुर मामले को लेकर कहा कि हमारी मांग है और जनता की भी मांग है कि ब्रजेश ठाकुर के सीडीआर से जुड़े तमाम लोगों और बड़े सफेदपोशों को उजागर किया जाय. ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाय.

Loading...

इसपर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए जदयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार सीबीआई से जांच करवा रहे है, कोई बचने वाला नहीं है. राजद के लोग थोड़ा कम पढ़े-लिखे है न. वहीं, इसी कड़ी में कांग्रेस नेता प्रेम चन्द्र मिश्र ने भी मुजफ्फरपुर पर बोलते हुए कहा कि सीडीआर को सार्वजनिक करनी चाहिए ताकि यह पता चले कि वो कौन से लोग है. जो इस तरह से दूराचार काम करने का अंजाम देता रहा. उसको जनता भी जानना चाहती है.

दरअसल, सीबीआई ने बालिका गृह कांड में शुक्रवार की सुबह पटना, बेगूसराय, मुजफ्फरपुर व पूर्वी चंपारण जिले की 12 जगहों पर एक साथ छापेमारी की. इसमें पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पांच ठिकाने शामिल हैं. मंजू वर्मा व उनके पति चंद्रेश्वर वर्मा से सीबीआइ ने करीब साढ़े छह घंटे पूछताछ की. वहीं, मुजफ्फरपुर में भी सीबीआइ ने जेल में बंद ब्रजेश ठाकुर के तीन ठिकानों सहित सात जगहों पर तलाशी ली. मोतिहारी के फेनहारा में निलंबित सीपीओ रवि रोशन के गांव में भी सीबीआइ ने छापा मारा है.