Input your search keywords and press Enter.

राष्ट्रीय लोक अदालत लोंगों के लिए हो रहा वरदान साबित, 327 मामलों का हुआ …..

राष्ट्रीय लोक अदालत में मामलों का निपटारा करते हैं न्यायिक पदाधिकारी

लखीसराय,(एस0 के0 गांधी)- व्यवहार न्यायालय परिसर में शनिवार को डालसा के तत्वावधान में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया.जिसका उद्घाटन जिला जज मदन किशोर कौशिक, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी नारायण दास शर्मा,एडीजे द्वितीय रंजीत कुमार सिंह एवं डालसा के सचिव उमाशंकर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया.

इस अवसर पर जिला जज श्री कौशिक ने कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत में समझौता के आधार पर मामले का निष्पादन होता है.इससे दोनो पक्षों को लाभ होता है.राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न बैंकों के लंबित 4,325 में से समझौता के आधार पर 327 मामले का निष्पादन किया गया. जिसमें एक करोड़ 77 लाख 83 हजार 752 रुपये समझौता राशि जमा करने पर सहमति बनी.

Loading...

दो सौ से अधिक मामले सिर्फ बिहार ग्रामीण बैंक का निष्पादन किया गया.लंबित 345 क्रिमिनल कंपाउंडेबल केस में से 29 मामले का समझौता के आधार पर निष्पादन किया गया. जिसमें एक मोटर दुर्घटना क्लेम केस का 75 हजार रुपये जमा कराया गया. विद्युत विभाग के पांच मामले में 28 हजार 526 रुपये जमा कराए गए.

समझौता के आधार पर मामले का निष्पादन करने को लेकर आठ बेंच बनाया गया था. प्रथम बेंच पर एडीजे द्वितीय रंजीत कुमार सिंह, द्वितीय बेंच पर जेएम प्रथम कुमार प्रभाकर, तृतीय बेंच पर एसीजेएम प्रथम मनीष द्विवेदी, चतुर्थ बेंच पर एसीजेएम रेल चंद्रवीर सिंह, पंचम बेंच पर मुंसिफ नरेश महतो, छठा बेंच पर सीजेएम नारायण दास शर्मा, सातवां बेंच पर जेएम प्रथम महेश शुक्ला एवं आठवां बेंच पर जेएम प्रथम दिवाकर कुमार द्वारा मामले का निष्पादन कराया गया.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.