Input your search keywords and press Enter.

मैट्रिक परीक्षा पास करना हुआ आसान, नीतीश सरकार ने लिया यह बड़ा फैसला…

nitish pc
nitish pc

file photo

मुख्यमंत्री द्वारा ली गई शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में कल कई मुद्दों पर चर्चा हुई. बैठक में छात्रों के रिजल्ट को सुधारने सम्बंधित विषय पर भी चर्चा हुई. मुख्य सचिव अंजनी सिंह ने बताया कि बिहार बोर्ड के प्रश्नपत्रों को सीबीएसई की तर्ज पर तैयार कराया जाएगा, ताकि राज्य के सरकारी स्कूलों के बच्चों की भी शत-प्रतिशत अंक हासिल करने की संभावना बढ़ सके. इसके लिए ऐसा मॉडल प्रश्न-पत्र तैयार कराया जाएगा, जिसमें वैकल्पिक प्रश्न अधिक हों.

Loading...

मुख्य सचिव ने बताया कि इसके लिए परीक्षा समिति को प्रश्न बैंक तैयार करने के लिए कहा गया है. उन्होंने बताया कि सभी विद्यालयों में शौचालयों का निर्माण पूर्ण हो गया है. इसके नियमित उपयोग और साफ-सफाई के लिए 53000 स्कूलों में ओवरहेड वॉटर टैंक लगाया जाएगा. इसके लिए राज्य सरकार मुख्यमंत्री राहत कोष और राज्य सरकार के निगमों के तहत सीएसआर फंड से रकम का इंतजाम किया जाएगा. शौचालयों की नियमित सफाई के लिए छात्रों को प्रेरित किया जाएगा.

उन्होंने प्राथमिक विद्यालयों में भवन निर्माण की जानकारी देते हुए कहा कि राज्य में 947 प्राथमिक विद्यालयों के लिए जमीन मिल गई है. वहां पर जल्द भवन का निर्माण शुरू कराया जाएगा. राज्य में तमाम कोशिशों के बावजूद गणित, विज्ञान, अंग्रेजी और संस्कृत के शिक्षक नहीं मिल पा रहे हैं. इस समस्या से निपटने के लिए माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में ई-लर्निंग की व्यवस्था शुरू होगी.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.