Input your search keywords and press Enter.

अब ग्रामीण क्षेत्र को लोंगों को मिलेगी कानूनी सहायता

ललन कुमार,शेखपुरा: अब ग्रामीण क्षेत्र के लोंगों को कानूनी सहायता देने की पहल शेखपुरा के जिला जज द्वारा शुरू कर दी गई है. जिले के चेवाड़ा, अरियरी एवं घाटकोसुम्भा प्रखंड मुख्यालय में जिला जज ने कानूनी सहायता केंद्र का शुभारंभ किया. केंद्र का उद्घाटन जिला जज आलोक कुमार पांडेय द्वारा किया गया.

 

जिला जज के अलावे न्यायिक एवम प्रशासनिक पदाधिकारी समेत कई अधिवक्ता केंद्र के शुभारंभ को लेकर बारी-बारी से तीनों प्रखंड मुख्यालयों में पहुंचे. उद्घाटन के दौरान जिला एवं सत्र न्यायाधीश आलोक कुमार पांडेय ने सभी लोगों को सुगमता के साथ कानूनी सहायता उपलब्ध कराने पर बल दिया है. उन्होंने कहा कि समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक न्याय की रोशनी पहुंचे, इसके लिए अधिवक्ताओं तथा सामाजिक सरोकार से जुड़े लोगों को अपना दायित्व समझना होगा.

 

Loading...

इस केंद्र से सुदूरवर्ती क्षेत्रों में भी आम लोगों को सरलता से कानूनी जानकारी मिल सकेगी. साथ ही साथ विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे लोगों के लिए यह केंद्र काफी मददगार साबित होगा. गांव देहात से आने वाले अशिक्षित लोगों को इस कानूनी सहायता केंद्र में आवेदन लिखने से लेकर कई तरह की मदद दी जाएगी. इस कानूनी सहायता केंद्र पर पैनल अधिवक्ता भी मौजूद रहेंगे जो लोगों को जरूरत के मुताबिक मदद करेंगे. यह कानूनी सहायता केंद्र जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा प्रारम्भ किया गया है. इसके पहले सदर ब्लाक शेखपुरा, बरबीघा एवम शेखोपुरसराय में भी इस तरह का कानुनी सहायता केंद्र स्थापित किया जा चुका है. इस अवसर पर डीएम दिनेश कुमार, डीडीसी निरंजन कुमार झा, विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव विवेकानंद ,जिला विधिज्ञ संघ के अध्यक्ष विनोद कुमार, संयुक्त सचिव सह विशेष लोक अभियोजक चंद्रमौली यादव ,के साथ अधिवक्ता शकील अहमद ,कमल किशोर, राजेंद्र प्रसाद समेत कई अन्य लोग भी समारोह में शामिल हुए.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.