Input your search keywords and press Enter.

पीएम मोदी अच्छे रिफॉर्मर नही , GST को बना दिया कठिन – द इकोनॉमिस्ट

Modi
pm modi

file photo


पीएम मोदी एक अच्छे एडमिनिस्ट्रेटर तो हैं, लेकिन रिफॉर्मर अच्‍छे नहीं हैं. यह बात मशहूर मैगजीन ‘दि इकोनॉमिस्‍ट’ में कही गई है. इसमें जीएसटी को लेकर कहा गया है कि इसे बेवजह कठिन बनाया गया है मैगज़ीन में कहा गया है की मोदी ने रेफोर के जो भी कदम ऊठाये है ,उनको लेकर आशंकाए है की वे पूरी तरह सही है या नही,जिससे दुनिया की जो करेंट सिचुएशन है, उसका पूरा फायदा उठाया जा सके.

– मैगजीन ने 1 जुलाई से लागू होने वाले गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स (जीएसटी) पर भी सवाल उठाए हैं
इसमें कहा गया है कि जीएसटी को बेवजह कठिन बना दिया गया है..इसमें अफसरशाही हावी नज़र आती है.
आर्टिकल में पिछले साल नवम्बर में सरकार के नोट बंदी के फैसला की भी आलोचना की गयी है.इसमें कहा गया है की यह काउंटर प्रोडक्टव फैसला था .इससे ईमानदारी से कारोबार करने बाले को दिक्कते हुई और गैरकानूनी कारोबारी को कुछ नुकसान नही हुआ .इसलिए हैरान नही होना चाहिए की इससे इकनोमिक की रफ़्तार धीमी हो गयी

Loading...

मौजूदा फाइनेंशियल ईयर के पहले तीन महीनों में जीडीपी बढ़ने की रफ्तार 6.1 फीसदी रही. मोदी के पीएम बनने से पहले जीडीपी इससे तेज रफ्तार से बढ़ रही थी. मनमोहन से ज्‍यादा ज्‍यादा एनर्जेटिक बताया
– आर्टिकल में मोदी को काफी एनर्जेटिक बताया गया है. इसमें कहा गया है कि मोदी पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से ज्‍यादा एनर्जेटिक हैं. लेकिन यह भी कहा गया है कि उनके पास खुद के नए आइडिया नहीं हैं। जीएसटी और बैंकरप्‍सी कोड जैसे सब्जेक्ट उनके आने के काफी पहले से ही मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.