Input your search keywords and press Enter.

हल्दी-मंडप के बाद बाराती आये द्वार, फिर पहुंची पुलिस को देख भागने लगे बाराती, गिरफ्तार हो गया दूल्हा समेत कई..

न्यूज़ डेस्क : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सपना दहेज बंदी और बाल विवाह पर रोक लगाने को अब गति मिलने लगी है. जिसका उदाहरण औरंगाबाद के नवीनगर प्रखंड स्थित खैरा थानाक्षेत्र में पड़ने वाला बेलौटी गांव में देखने को मिला. यहां एक साथ दो अलग-अलग घरों में तीन बेटियों की शादी करायी जा रही थी, जो उम्र में 18 वर्ष से कम थीं. जिसकी सुचना पुलिस को मिली और पुलिस ने त्वरित कार्यवाई करते हुए बाल विवाह होने से बचा लिया.

इस दौरान शादी की जिद पर अड़े लड़की के पिता, पंडित, दूल्हा और दूल्हे के संबंधियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. मिली जानकारी के अनुसार बेलौटी गांव में राजकिशोर राम अपनी 16 वर्षीया बेटी पम्मी कुमारी, बेलौटी टोले जानकीपुर निवासी उपेंद्र पासवान अपनी 17 वर्षीया बेटी कविता कुमारी और संगीता कुमारी की शादी की तैयारी में जुटे हुए थे. उनकी शादी उत्तरप्रदेश के हाथरस जिला अंतर्गत सासनी थाना क्षेत्र के गांव नागलानन्नी कोरमी निवासी ठाकुर देवेंद्र एवं उसके भाइयों के साथ होनी थी. जिसके बाबत हल्दी और मंडप ये सब हो गया था. बाराती पहुँच चुकी थी, बस विवाह की रस्म होनी बाकि थी.

Loading...

इसी बीच पुलिस वहां पहुँच गई और लोगों को समझाने लगी पम्मी के पिता ने बात मान ली और 18 साल के बाद शादी करने की बात कही. पर अन्य लड़की के घर वाले लोग लाख समझाने के बाद शादी करने के जिद पर अड़े रहे जिसके बाद पुलिस ने जानकीपुर निवासी उपेंद्र पासवान और बाल विवाह संपन्न कराने आये हरचनपुर गांव के निवासी पंडित लल्लू दुबे को पकड़ कर जेल भेज दिया. इसके साथ ही दूल्हा यूपी के नागला नन्नी निवासी ठाकुर देवेंद्र सिंह, उसके भाई राकेश कुमार, चाचा ज्ञानेंद्र सिंह, बहनोई नरेश सिंह को भी जेल भेज दिया.

यह भी पढ़ें:
नियोजित शिक्षकों का वेतन देने के लिए सरकार ने की बड़ी पहल

पप्पू यादव को मिली गोली मार हत्या कर देने की धमकी, पप्पू यादव ने कहा….

तेजप्रताप पर डिप्टी सीएम का जोरदार हमला, सत्ता जाने से हताश राजनीतिक बहस को निहायत घटिया और….

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.