Input your search keywords and press Enter.

मुजफ्फरपुर: व्यवसायी संतोष हत्याकांड में अबतक पांच गिरफ्तार

protest
protest

रिप्रेजेंटेटिव फोटो

मुजफ्फरपुर.न्यूज़ डेस्क.updated Dec29 2015 19:07
अहियापुर के गल्ला व्यवसायी संतोष कुमार हत्याकांड के सिलसिले में पुलिस ने अबतक पांच लोगों को गिरफ्तार किया है जिनसे पूछताछ जारी है. पुलिस को शक है कि घटना आपसी विवाद का परिणाम है.

मामले के बारे में बात करते हुए मुजफ्फरपुर के एसएसपी रंजीत मिश्रा ने बताया है कि ‘प्रारंभिक जांच में कई तरह की बातें सामने आई हैं लेकिन घटना आपसी विवाद में ही हुई है. अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर विशेष पुलिस टीम छापेमारी कर रही है, मामले का शीघ्र ही खुलासा कर दिया जाएगा.’

गिरफ्तार लोगों में एक मुजफ्फरपुर के ओराई का और 2 शिवहर के रहनेवाले हैं. इन्हें पुलिस ने तब पकड़ा जब वारदात में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस छापेमारी करने निकली थी और उसपर कुछ अज्ञात लोगों ने बम से हमला कर दिया था.

हमले में आंशिक रूप से घायल कुछ पुलिसकर्मियों का प्राथमिक उपचार कराया गया जिसके बाद पुलिस ने इलाके नाकेबंदी की और बाइकसवार तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया.

Loading...

इससे पहले आज जिले के व्यवसाइयों ने बाजार बंद कर दिया और जमकर नारेबाजी और आगजनी की गयी. बढ़ते अपराध के खिलाफ लोग सड़कों पर उतरे और व्यापारियों ने प्रशासन से सुरक्षा की मांग करते हुए सरकार विरोधी नारे लगाए. बाद में पुलिस व प्रशासन ने उन्हें समझाकर शांत किया.

उधर मृतक व्यवसायी के घर आज कई स्थानीय विधायक पहुंचे जिनमे सुरेश शर्मा, बेबी कुमारी और केदार गुप्ता शामिल हैं.

ज्ञात हो कि विश्वकर्मा धर्मकांटा के पास रहनेवाले व्यवसायी संतोष का शक्ति धर्मकांटा के पास गल्ला का व्यवसाय था. बीती रात जब वो अपना गोदाम बंद कर एक रिश्तेदार के साथ निकल रहे थे तो दो बाइक पर सवार चार नकाबपोश अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी जबकि उनके साथ के रिश्तेदार को कुछ नहीं किया. संतोष को तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया जहाँ उनकी मौत हो गयी.

इससे पहले कल वैशाली के बरांटी थाना क्षेत्र के काशीपुर गांव के पास से रिलायंस कंपनी के एक इंजीनियर अंकित कुमार(42) का शव मिला था. मृतक मुजफ्फरपुर के ही अहियापुर थाना क्षेत्र के शेखपुरा गांव का रहनेवाला था.

इस हत्या के विरोध में भी आज परिजनों ने अखाड़ा घाट रोड को पूल सहित जामकर प्रदर्शन किया. फिलहाल पुलिस ने अंकित के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है.

इस मामले में भी अभी हत्या का कारणों का पता नहीं चल सका है. बताया जा रहा है कि अंकित पर पिछले साल भी छपरा में जानलेवा हमला किया गया था लेकिन उस वक्त उसकी जान बच गई थी.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.