Input your search keywords and press Enter.

राजद का बड़ा हमला, आप विधायकों को अयोग्य ठहराने का फैसला न्याय की प्रकृति के खिलाफ…..

राजद विधायक फोटो


कुणाल गुप्ता (समस्तीपुर)-राष्ट्रपति रामनाथ कोबिन्द के द्वारा चुनाव आयोग के फैसले को मंजूरी देने से दिल्ली के आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने पर राजद के बिहार प्रदेश प्रवक्ता -सह -विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कड़ा हमला किया है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति को इस सम्बन्ध में फैसला लेने से पहले उन 20 विधायकों को एक मौका और देना चाहिए था.

राजद प्रवक्ता ने कहा की संसदीय सचिव रहते हुए किसी विधायक का वेतन एक रुपया अलग से नहीं बढ़ सकता. श्री शाहीन ने कहा की जिस विधानसभा और सरकार के 20 विधायकों के निलंबन की सिफारिश को महज़ 2 दिन में राष्ट्रपति ने मंजूरी दे दी, उसी सरकार और विधानसभा के लोकपाल जैसे कई सारे अहम कानून राष्ट्रपति के पास 20 महीने से लंबित है. उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराने का राष्ट्रपति का फ़ैसला न्याय की प्रकृति के ख़िलाफ़ है. इस मामले में कोई सुनवाई नहीं हुई और न ही हाइकोर्ट के फ़ैसले का इंतजार किया गया. यह तुग़लक़शाही का सबसे बुरा फ़रमान है.

Loading...

उन्होंने कहा की “पहले अपने मनपसंद के लोगों को संवैधानिक पदों पर आसीन कराओ और फिर उनसे मर्जीमाफिक और अलोकतांत्रिक फैसले सुनवाओ. और जब लोग इन संस्थानों के खिलाफ बोलें तो लोगो को बोलने की मर्यादा का पाठ सिखाओ. वाह रे मोदी जी! लेकिन गलतफहमी मत पालना, देश के लोगो को न्यायिक कोर्ट और जनता के कोर्ट दोनों पर भरोसा है.” माननीय विधायक ने कहा की जहाँ भाजपा सत्ता में नहीं है वहाँ घबराहट में मोदीजी और शाह जी जनादेश का अपमान करने और सरकार को गिराने के चक्कर में खुद नैतिक रूप से नीचे गिरते जा रहे हैं. इनके क्रियाकलापों से आज लोकतंत्र व संविधान दोनों खतरे में हैं .


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.