Input your search keywords and press Enter.

मोदी की बढ़ सकती है मुश्किलें, बीजेपी को समर्थन देने वाला यह दल बंटेगा दो भागों में

modi on world business ranking
modi on world business ranking

फाइल फोटो


भारतीय जनता पार्टी के संग गठबंधन में शामिल राजनीतिक दल राष्ट्रीय लोक समता पार्टी(रालोसपा) में दो दिग्गजों की आपसी टकरार और तेज हो गई है जिसे देखते हुए यह उम्मीद की जा रही है कि बहुत जल्द ही पार्टी का विभाजन हो सकता है. प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाने के बाद सांसद अरुण कुमार ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री उपेंद्र कुशवाहा के खिलाफ जो मोर्चा खोला है उसे उन्होंने अब और तीव्र कर दिया है. साथ ही उपेंद्र कुशवाहा भी उनके बयानों के प्रतिउत्तर से पीछे नही हट रहें है

बता दें कि रविवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और अरुण कुमार द्वारा एक ही समय में हुई अलग-अलग बैठकें बुलाई गई थी, जिसमें दोनों नेताओं के समर्थक मौजूद हुए थे. जहां उपेंद्र कुशवाहा ने अखिल भारतीय महात्मा फुले समता परिषद के बैनर तले रालोसपा के संगठनात्मक चुनाव को लेकर सिन्हा लाइब्रेरी में बैठक की तो अरुण कुमार द्वारा ‘गेट टुगेदर हॉल’ में मीटिंग की. इस दोनों नेताओं के मीटिंग स्थलों की दुरी महज 100 मीटर के आसपास थी.

बताया जा रहा है कि इस बैठक में शामिल अरुण कुमार के समर्थकों ने कुशवाहा को लेकर यह बयान दिया कि वों नीतीश कुमार और लालू प्रसाद की गोद में खेल रहें हैं. जबकि पत्रकारों द्वारा पूछें गए अरुण कुमार संबंधित सवालों के जवाब में उपेन्द्र कुशवाहा यह कहा कि ‘ मैं आउट ऑफ सिलेबस सवालों का जवाब नहीं देता.’ इन दोनों नेताओं द्वारा एक दुसरे को इग्नोर करने का यही मतलब निकाला जा सकता है की इनकी आपस में सुलह नहीं हो सकती है और बहुत जल्द ही इनकी पार्टी टूटने वाली है.

फ्लिपकार्ट पर चल रहा है बम्फर ऑफर, यहाँ क्लिक कर उठाये फायदा: Flipkart

Loading...


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]