Input your search keywords and press Enter.

ब्लैक होल रहस्य बताने वाले स्‍टीफन हॉकिंग का हुआ निधन, जानिए उनसे जुड़ी 5 बाते

टेक डेस्क: मशहूर वैज्ञानिक जिन्होंने ब्रहमांड की रहस्य से पर्दा उठाया आज हमारे बीच नहीं रहे. वैज्ञानिक स्‍टीफन हॉकिंग का निधन हो चूका है और उनके परिवार वालो ने पुष्टि कर चुकी है. विश्व प्रसिद्ध महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने 76 की उम्र में अंतिम सांस ली. वो बेस्टसेलर बुक ‘अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ के लेखक भी थे. कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में सैद्धांतिक ब्रह्मांड विज्ञान केन्द्र (सेंटर ऑफ थियोरेटिकल कोस्मोलॉजी) के शोध निर्देशक भी रहे. हॉकिंग व्हीलचेयर पर रहते थे. उन्होंने बताया था- ’21 वर्ष की उम्र में डॉक्टरों ने मुझे बता दिया था कि मुझे मोटर न्यूरोन नामक लाइलाज बीमारी है.’

Loading...

स्‍टीफन हॉकिंग से जुड़े ये 5 बाते आप नहीं जाते होगे. अल्‍बर्ट आइंसटीन के बाद सबसे अधिक प्रसिद्ध वैज्ञानिक.

1952 में वह ऑक्‍सफोर्ड के यूनिवर्सिटी कॉलेज गए. यहीं उनके पिता ने भी पढ़ाई की थी.

स्‍टीफन हॉकिंग गणित की पढ़ाई करना चाहते थे. लेकिन उनके पिता उन्‍हें मेडिसिन की पढ़ाई करवाना चाहते थे. ऑक्‍सफोर्ड के यूनिवर्सिटी कॉलेज में गणित न होने के कारण उन्‍होंने भौतिकी की पढ़ाई शुरू की.

अक्‍टूबर 1962 में उन्‍होंने यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज में कॉस्‍मोलॉजी में रिसर्च शुरू की. उस वक्‍त ऐसा करने वाले वह पहले व्‍यक्ति थे.

1965 में उन्‍होंने पीएचडी पूरी की. 1965 में वह रिसर्च फेलो बने, 1969 में फेलो फॉर डिस्टिंक्‍शन इन साइंस बने.

स्‍टीफन ने दुनिया को कई अंतरिक्ष सिद्धांत दिए. उन्‍होंने हॉकिंग रेडिएशन, पेनरोज-हॉकिंग theorems, बीकेंस्‍टीन-हॉकिंग फॉर्मूला दिया. हॉकिंग एनर्जी, गिब्‍सन-हॉकिंग स्‍पेस और गिब्‍सन हॉकिंग इफेक्‍ट उनके अहम सिद्धांत थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.