Input your search keywords and press Enter.

सृज़न घोटाले में नया खुलासा, लेटर जारी कर कहा गया था सृजन में पैसा जमा हो..

srijan scam
srijan scam

file photo

संजीव मिश्रा, भागलपुर; सृजन घोटाले का भूत थमने का नाम नहीं ले रहा. हर रोज शुर्खियो में सृजन किसी ना किसी वजह से रह ही रहा. सृजन को करीब 50 दिन होने को जा रहे हैं. आज एक बड़ा खुलासा हुआ है. ज्ञात हो कि हमारी DBN की टीम लगातार सृजन पे सबसे पहले अपडेट देते रही है.

सरकारी राशि का गोलमाल के लिए ही सृजन संस्था को तत्कालीन जिलाधिकारी का संरक्षण मिला था. सृजन के खाते में जिले के विभिन्न प्रखंड कार्यालयों का पैसा जमा करने के लिए 2003 में तत्कालीन डीएम केपी रमैय्या ने लेटर तक जारी कर दी थी. जिसके बाद से बीडीओ-सीओ सृजन की संस्थापक मनोरमा देवी के आगे घुटने टेक देते थे.ओर टेके भी क्यों ना जब आका का ही आदेश हो तो फिर क्या ?यह खुलासा डीएम आदेश तितरमारे द्वारा गठित जांच टीम ने आज किया.

अधिकारियों ने बताया कि तत्कालीन जिलाधिकारी रमैय्या के आदेश के बाद प्रखंड कार्यालयों ने सबौर स्थित सृजन संस्था में खाता खोलना शुरू कर दिया था. लिहाजा सरकार से प्रखंडों को मिलने वाली सरकारी योजनाओं की राशि सृजन में जमा होने लगी. इसके बाद से ही तो सृजन का भूत बाहर आने लगा. सरकारी राशि सृजन के खाते में जमा होते ही मनोरमा उसे अवैध तरीके से निकाल लेती थी.

Loading...

पैसे निकालने में तत्कालीन सीओ और बीडीओ समेत कुछ अन्य कर्मियों की भी भूमिका काफी संदिग्ध है, ये भी जाच के दायरे में हैं. मनोरमा देवी का इतना ख़ौफ़ था कि कोइ डर स्व जवान तक नहीं खोलता था.और फिर मनोरमा देवी मनचाहे तरीके से मार्केट में पैसा लगाती थी.और जब फिर प्रखंड कार्यालय को पैसों की जरूरत होती तो मनोरमा देवी प्रखंड के खाते में ट्रांसफ़र कर देती थी. इस तरह से यह नंगा नाच 2003 से सुरु था.

जब जिलाधिकारी ही भरस्ट हो जाये तो निचले स्तर के अधिकारी क्या करेंगे?सबसे बड़ा सवाल की अभीतक कोई भी जिलाधिकारी पकड़ में क्यों नहीं आये हैं?जबकि एक महीने से केस सीबीआई के हाथ मे है. अभी तक 13 डीएम के नाम सामने आचुके हैं सृजन में, कोई भी गिरफ्तार क्यों नहीं अभीतक?सभी जान रहे हैं कि सभी डीएम की भूमिका इसमें संदिग्द हैं. अब ये तो आने वाला वक्त बताएगा कि जांच किस ओर जा रहा है.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.