Input your search keywords and press Enter.

बड़ा आरोप: इस समझौते के तहत सीएम नीतीश ने विशेष दर्जे की माँग को कूड़ेदान में डलवा दिया…..

nitish-kumar
nitish-kumar-pti_650x400_51501401075

file pic


न्यूज़ डेस्क: एक तरफ बिहार में उपचुनाव का प्रचार चल रहा है दुसरी तरफ नेताओं का बयानबाजी भी चरम सीम पर है. महागठबंधन में एक साथ काम कर चुके चाचा सीएम नीतीश कुमार और भतीजे नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी के बीच व्यंग का दौर जारी है. केंद्र की मोदी सरकार से एक बड़े घटक दल के अलग हो जाने के बाद बिहार में सियासत तेज हो गई है.

बीजेपी की सबसे बड़ी सहयोगी पार्टी शिव सेना के बाद संकट से गुजर रही बीजेपी को एक और झटका दिया आंध्रप्रदेश की टीडीपी ने जब मंत्रीमंडल में शामिल सहयोगी पार्टी ने अलग होने का फैसला लिया. विशेष राज्य का दर्जा न मिलने से नाराज चंद्रबाबू नायडू ने मोदी सरकार को बीच में छोड़ने का फैसला किया है. पहले से ही बजट से नाराज चल रहे चंद्रबाबू नायडू ने मांगे पूरी नहीं होने पर गठबंधन तोड़ते हुए बीजेपी से अलग होने का फैसला लिया है. चंद्रबाबू नायडू ने इस संदर्भ में ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा हाई कि उन्होंने पीएम मोदी से बात करने की कोशिश की लेकिन वो इसके लिए उपलब्ध नहीं थे. अपना पक्ष रखते हुए कहा कि केंद्र एकतरफा फैसले लेता रहा है और अब उनके धैर्य की इंतहा हो गई है. जब केंद्रीय मंत्रिमंडल का हिस्सा बनने से उद्देश्य पूरा नहीं हो रहा है तब बेहतर है कि वो अलग हो जाएं.


file pic


नायडू के अलग होने के फैसले के बाद बिहार की राजनीति में भी ऊबाल आ गया है. विशेष राज्य का दर्जा को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश पर जमकर हमला किया है. तेजस्वी यादव ने ट्विट कर कहा है कि नीतीश कुमार को चंद्र बाबू नायडू को देखना चाहिए देख लिया जाये कैसे नायडू ने अपने राज्य हित का सवाल उठाया है. तेजस्वी ने कहा है कि छिपी हुई सीडी और फाइल के डर से नीतीश कुमार ने अपनी नैतिकता और विवेक को गिरवी रख छोड़ा है.


tejaswi yadav11

file photo


तेजस्वी यादव ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश जी को मैंने पत्र लिखकर अपने नेता प्रधानमंत्री मोदी जी से बिहार के लिए विशेष राज्य की माँग करने की विनम्र विनती के साथ-साथ तन-मन-जन से पूर्ण समर्थन देने का वायदा भी किया था लेकिन मुख्यमंत्री ने नेता प्रतिपक्ष को उस पत्र का जवाब देना भी उचित नहीं समझा.


tejaswi yadav nitish kumar

file photo


तेजस्वी यादव सीएम पर काफी हमलावर होते हुए नीतीश कुमार को रीढ़विहीन मुख्यमंत्री है बताया है. साथ ही कहा हाई कि अगर प्रधानमंत्री मोदी जी और केंद्र सरकार बिहार की विशेष दर्जे की जायज़ माँग को अस्वीकार करते है तो नीतीश जी को अंतरात्मा की आवाज़ पर तुरंत इस्तीफ़ा देकर NDA से गठबंधन तोड़ना चाहिए. साथ ही नीतीश कुमार से आग्रह किया है कि कुछ तो हिम्मत दिखाइए चाचा जी हम इस माँग पर साथ है. आगे ट्विट कर कहा है कि नीतीश जी ने अपने लिए दिल्ली में ‘विशेष आवास’ और ‘विशेष सुरक्षा’ के समझौते के तहत बिहार को विशेष दर्जे की माँग को कूड़ेदान में डलवा दिया. नीतीश जी को यह हक़ किसने दिया है कि अपने व्यक्तिगत स्वार्थों की पूर्ति के लिए वो बिहार के साथ हक़मारी करें. स्वयंघोषित नैतिक पुरुष जवाब दे.

Loading...

नीतीश जी बतायें उन्होंने किस सीडी और फ़ाइल के डर से अपनी नैतिकता, अंतरात्मा, राजनीति और बिहार के अधिकारों को भाजपा के यहाँ गिरवी रखा है? शासन इक़बाल और स्वाभिमान से चलता है. कितने दिन डरकर बिहार का नुक़सान करते रहेंगे. केंद्र सरकार ने दिल्ली में आपका बंगला तैयार करवा दिया है.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.