Input your search keywords and press Enter.

मृत मां-बाप का भारी भरकम कर्ज चुकाने के लिए दर-दर भटक रहा दस साल का मासूम बच्चा


न्यूज़ डेस्क : बीते शनिवार को पुरे बेगुसराय में चर्चा का विषय बना रहा एक दस साल ला बच्चा धर्मराज. दरसल वह बच्चा राष्ट्रीय लोक अदालत में अपने मृत मां बाप का भारी भरकम कर्ज चुकाने महज 700 रूपये लेकर गया था. वहां पहुंचे हर लोग की निगाह उस बच्चे पर ही टिकी थी था सब यहीं सोच रहे थे की 85000 रुपया ये बच्चा लायेगा कहाँ से?

जानकारी के अनुसार छौड़ाही प्रखंड के बथौल गांव के शंकर पासवान ने 1987 में बिहार ग्रामीण बैंक से अपना कारोबार खड़ा करने के लिए 25 हजार रुपया कर्ज लिया था. लेकिन बह न ही कारोबार खड़ा कर पाया और न ही बैंक को कर्ज लौटा पाया. पांच बर्ष पूर्व शंकर पासवान और उसकी पत्नी की मौत हो गई है.

Loading...

इधर बैंक ने कर्ज वापसी के लिये घर पर 85 हजार रुपए का नोटिस भेज दिया. जिसके बाद मृत शंकर पासवान का 10 वर्षीय पुत्र धर्मराज ने अपने गाँव से चंदा कर सात सौ रूपये लेकर लोक अदालत ने कर्ज जमा कराने आया हुआ था. बच्चे ने बताया की लोक अदालत में वकील के माध्यम से बैंक ने समझौता कर कर्ज के रकम को 25000 ही छोड़ दिया है. लेकिन दस साल का मासूम इतना बड़ा कर्ज कैसे चूका पाएगा.

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a Reply

Your email address will not be published.