Input your search keywords and press Enter.

मुख्यमंत्री के “हर घर नल जल योजना” का बुरा हाल,घरों में नहीं पहुंच रहे हैं पानी…

nitish kumar in delhi
nitish kumar in delhi

फाइल फोटो

डीबीएन न्यूज/छपरा(अयूब रजा)-जिला के नगरा प्रखण्ड क्षेत्र के अफौर गांव में एक माह से अब तक पेयजल की समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों को अभी तक पेयजल समस्या से निजात नहीं मिल पाया है.वहीं अपने गांव के ही पीड़ित ग्रामीण सड़क पर उत्तर गए.

प्राप्त जानकारी अनुसार ग्रामीणों ने बताया कि गांव में महीनो से नलजल योजना वाला पानी नहीं आ रहा है.ऐसे में पानी की व्यवस्था के लिए गांव के लोगों को दूर दराज क्षेत्रों में भटकना पड़ रहा है. नलजल योजना पर ग्रहण लगता दिख रहा है. नीतीश सरकार ने नलजल योजना से सभी के घरों में पानी देने का वादा किया है लेकिन पानी टंकी के नीचे बना कार्यालय में यह लिखा गया है कि अपनी शिकायत यहाँ करें.कर्मियो के लापरवाही के कारण नलों में पानी नहीं आ रहा है.

कई बार इसके बावजूद भी अफौर गांव के लगभग 25 -30 घरो में जलापूर्ति नहीं हो रही है.यह भी तथ्य सामने आई है कि मजदुरों के घरो में पानी आपूर्ति करने के लिए पैसे की भी मांग किया जाता है.तथा बरगलाया भी किया जाता है कि अफौर के तरफ नल जाम है.सफाई किया जायेगा.

Loading...

इस मामले में इस समस्या पर स्थानीय लोक समिति अध्यक्ष रामजन्म प्रसाद ने बताया कि ठीकेदार से बात कर शिकायत किया गया है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुआ है.दिन पर दिन ग्रामीणों की समस्या बढ़ती जा रही है.वही सिर्फ अधिकारियो द्वारा अफौर वासियो को आश्वाशन दिया जा रहा है कि बहुत जल्द ही जलापूर्ति चालू करा दिया जायेगा.

वहीँ ग्रामवासियों में उमाशंकर साह,रामजन्म प्रसाद,
चंदमौलि प्रसाद,कमला साह,हीरा साह,नन्दलाल साह,टेनी महतो,छठु मांझी,उमा साह,हिरा साह,गोदन महतो,दोस महम्मद,कल्लू मियां,कलीम अंसारी,मजहर इमाम,कल्लू
मियां,सुरेन्द्र महतो,नारद महतो,मकुन महतो,सहित दर्जनों लोगों ने बताया कि गांव में नलजल योजना तो है लेकिन महीनो दिन से नल से पानी नहीं मिल रहा है.कभी पानी की कमी तो कभी मोटर जलने का कारण गिनाए जाते हैं.ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से मांग की है कि शीघ्र ही गांव में छाई पेयजल समस्या का निराकरण किया जाए.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.