Input your search keywords and press Enter.

इस अनोखी मंदिर में दूध भी बदल देता है अपने रंग

लाइफस्टाइल डेस्क: भारत प्राचीन काल से ही धर्म प्रधान देश रहा है. यहां सभी धर्मों के लोग निवास करते है और सभी धर्मों को पूजा जाता है. हमारे हिन्दू धर्म में पुराणों और वेदों में प्रत्येक भगवान की महिमा के बारे में बताया गया है. जिन कथाओं को सुनकर मनुष्य भगवान में आस्था रखता है. हमारे देश में भगवानो के अनेकों मंदिर है और उनसे जुड़ी कई कथाए और रहस्य है जिनके बारे में शायद ही कोई जानता होगा.

Loading...

ऐसा ही एक मंदिर केरल के कीजापेरुमपल्लम गांव में स्थित हैं. इस मंदिर को नागनाथस्वामी मंदिर या केतु स्थल के नाम से जाना जाता है. यह यह मंदिर केतु देव को समर्पित है. यह मंदिर पवित्र कावेरी नदी के तट पर बना है. इस मंदिर से संबंधित एक पौराणिक कथा है जिसके अनुसार एक बार ऋषि के श्राप से मुक्ति पाने के लिए केतु ने शिव अराधना प्रारंभ की. शिवरात्रि के पावन दिन पर भगवान शिव ने केतु को दर्शन दिए और उस श्राप से मुक्ति भी दिलवाई. केतु को सांपों का देवता भी माना जाता है क्योंकि उसका धड़ सांप का और सिर मनुष्य का होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.