Input your search keywords and press Enter.

ट्रेन की महिला बोगी में चढ़ने पर पड़ सकता है मंहगा,रेलवे की कमाई का जरिया बना…..

रिप्रजेंटेटिव फोटो

डीबीएन न्यूज/लखीसराय(एस0के0गांधी)-रेलवे के लिए महिला बोगी कमाई का अच्छा जरिया बन गया है.जानकारी के अभाव या जल्दबाजी में जो पुरूष इस बोगी में सवार होते है उन्हें जुर्माना भरना पड़ रहा है.

रेलवे प्रावधान के मुताबिक महिलाओं को सुरक्षित यात्रा के लिए अलग से महिला बोगी की व्यवस्था की गई है. रेलवे एक्ट के मुताबिक इस बोगी में पुरूष यात्री का प्रवेश बच्चों को छोड़कर निषेध है. वे पुरूष भी इस बोगी में सफर नहीं कर सकते है जिनके साथ महिलाएं यात्रा कर रही है.
ये नियम कानून महिलाओं की सुरक्षा से जुड़े हैं और इसकी अवहेलना अपराध है, लेकिन एक सवाल यह भी है कि यात्री सामान्य और महिला बोगी में अंतर कैसे करेगें ? एक जैसी बोगी ,एक जैसा सीट, एक जैसी खिड़कियां, न कोई रोकने वाला और न कोई टोकने वाला.

Loading...

यात्रा के दौरान पकड़े गए अधिकतर लोग यह बयान देते है कि उन्हें पता ही नहीं है कि यह महिला बोंगी है. किउल,झाझा,जसीडीह,पटना,भागलपुर जैसे स्टेशन को छोड़ दे तो अधिकतर स्टेशन में ट्रेनों का स्टॉपेज 1- 2 मिनट का होता है.इसमें आधे समय यात्रियों को उतरने में लग जाता है.स्थिति यह है कि ट्रेन के खुलते -खुलते भी कई यात्री दौड़कर ट्रेन पकड़ते है ऐसे में क्या उन यात्रियों से यह उम्मीद संभव है कि वे ट्रेन चढ़ने के पहले यह पता करें कि यह महिला बोगी है या सामान्य बोगी.

दानापुर वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त चन्द्र मोहन मिश्र के निर्देशानुसार 138 लोगों को महिला बोगी में यात्रा करते पकड़े गया, जिसे अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी रेलवे किउल के समझ पेश कर करीब 30 हजार रूपये वसूल किया गया.महिला व विकलांग बोगी में यात्री न चढ़े इसके लिए मिडिया, सोशल मिडिया एवं 182 हेल्प लाइन से जागरूक किया जा रहा है. वहीं किउल आरपीएफ इंस्पेक्टर पंकज कुमार ने कहा कि महिलाओं की बोगी में पुरूष न चढ़े.इसके लिए जागरूक किया जा रहा है.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.