Input your search keywords and press Enter.

पटना आए भाजपा सांसद ने महिलाओं को लेकर सभी दलों पर साधा निशाना,कहा…

हितेश कुमार : राजधानी पटना के ज्ञान भवन में आयोजित पार्लियामेंटेरियन कॉनक्लेव में शामिल हुए भाजपा के युवा सांसद वरुण गांधी ने संसद की कार्यशैली पर विचार करने की बात कहते हुए कुछ आकड़े भी बताए. उन्होंने कहा कि गत 10 साल में संसद में पास हुए कुल बिल में से 51 प्रतिशत बिल बिना किसी बहस के पास कराए गए.

61 प्रतिशत बिल को विभिन्न सलाहकार समितियों के पास भेजे बिना ही पारित कराया गया. संसद का काम प्रत्येक विषय पर नीतिगत चर्चा कर, उसकी गहराई में जाकर नीति बनाना है. संसद को राजनीति का नहीं बल्कि नीति का केंद्र होना चाहिए. बकौल वरुण संसद का काम सांसदों द्वारा उठाए गए विभिन्न विषयों पर बहस करना है. सांसदों के कार्यशैली पर वरुण ने कहा कि पिछले 15 साल में सांसद हर साल करीब दो महीने ही काम करते हैं. जबकि 1952 से 1972 तक यह आंकड़ा 130 दिन था.

Loading...

सांसदों के वेतन वृद्धि को उन्होंने वयक्तिगत तौर पर गलत बताया. साथ ही कहा कि मैं सांसदों द्वारा अपना वेतन खुद बढ़ाये जाने के खिलाफ हूं. भाजपा सांसद ने चुटकी लेते हुए कहा कि इस हिसाब से राजनीति में महिलाओं पर दांव लगाना सबसे फायदेमंद है. उन्होंने राजकाज में जनता विशेषकर नौजवानों की भागीदारी बढ़ाये जाने पर ज़ोर दिया. महिला सशक्तिकरण बिल की बात करते हुए युवा सांसद ने सभी राजनीतिक दलों को निशाने पर लिया और कहा कि महिला सशक्तिकरण और उससे संबंधित बिल के पक्ष में सभी राजनीतिक दल हैं. लेकिन चुनाव में टिकट बांटते समय सभी दल महिलाओं को भूल जाते हैं. संसद में महिलाओं की भागीदारी 11 प्रतिशत है. जबकि देशभर के विधानसभाओं में यह आंकड़ा मात्र 9 प्रतिशत है. वरुण गांधी के अनुसार लोकसभा चुनाव 2014 में मात्र 14 प्रतिशत महिलाओं को टिकट मिला जिसमें 11 प्रतिशत महिलाएं कामयाब रहीं.

यह भी पढ़ें:
‘सृजन घोटाला सीधे तौर पर नीतीश और सुशील मोदी के संरक्षण में हुआ है’

भागलपुर में मंच से लालू यादव करेंगे बड़ा खुलासा, अब तक….

रक्षा मंत्री बनते ही निर्मला सीतारामन का बड़ा फैसला,अब महिलाएं…

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.